मॉरिशस में शुरू हुआ अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव

0
97

अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव (International Geeta Mahotsav) का मॉरिशस 15 फरवरी से शुभारंभ हो गया है। आपको बता दें कि मॉरिशस के राष्ट्रपति एवं स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज ने दीप प्रज्जवलित (Lamp lit) कर 4 दिवसीय अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव का शुभारंभ किया। भारत से बाहर मॉरिशस में पहली बार अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का दीप प्रज्जवलित करके विधिवत शुभारंभ मॉरिशस के ऑडिटोरियम में किया गया।

मॉरिशस में शुरू हुआ अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव

आपको बता दें कि पिछले वर्ष दिसंबर माह के दौरान कुरुक्षेत्र (हरियाणा) में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव में मॉरिशस एक भागीदार राष्ट्र (Partner Nation) के रूप में शामिल रहा। अगले दो वर्षों तक मॉरिशस में गीता महोत्सव मनाया जाएगा और हरियाणा सहभागी बनेगा।

गीतामय हुआ मॉरिशस, निकाली गई विशाल शोभा यात्रा –

मॉरिशस में गीता महोत्सव से पहले जीओ गीता एवं श्री कृष्ण कृपा परिवार की और से गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद के सानिध्य में गीता जी की विशाल शोभा यात्रा (processiontableau) निकाली गई। मॉरिशस के प्रमुख मार्गों से होती हुई यह शोभा यात्रा इस्कॉन मन्दिर में सम्पन्न हुई। शोभा यात्रा को लेकर मॉरिशस गीतामय हो गया। श्री कृष्ण गोविंद हरे मुरारे की धुन पर शोभायात्रा में शामिल सभी श्रद्धालु जमकर थिरके और इस अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव के ऐतिहासिक क्षण के साक्षी बने। इस शोभायात्रा में मॉरिशस के राष्ट्रपति परमाशिवम पिल्ले तथा कला एवं संस्कृति मंत्री विशेष रूप से शामिल हुए। राष्ट्रपति ने गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज और उनके साथ आए श्रद्धालुओं का अभिनंदन करते हुए कहा कि मॉरिशस ने स्वामी ज्ञानानंद जी की प्रेरणा से मॉरिशस सरकार ने गीता महोत्सव मनाना शुरू किया है।

गीता महोत्सव के अवसर पर कौन-कौन रहे मौजूद –

मॉरिशस में गीता महोत्सव के अवसर पर मॉरिशस के कला एवं संस्कृति मंत्री पी. रूपेण, शिक्षा मंत्री, पर्यटन मंत्री सहित मॉरिशस सरकार के अनेक उचाधिकारी एवं भारत से पहुंचे। जैन संत आचार्य लोकेश मुनि, बाबा भूपेंद्र सिंह पटियाला वाले, भागवताचार्य संजीव कृष्ण ठाकुर, कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के सदस्य सचिव विजय दहिया, मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा, सदस्य विजय नरूला, उपेंद्र सिंघल, राजेन्द्र पराशर, डॉ प्रीतम सिंह, रविन्द्र सांगवान, सौरभ चैधरी उपस्थित थे। मॉरीशस सरकार की और से गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। इसी प्रकार कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड की और से राष्ट्रपति तथा कार्यक्रम में उपस्थित मंत्रियों एवं उच्चाधिकारियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

यह भी जाने –

  • वर्ष 1989 में, गीता जयंती मनाने की परंपरा (The tradition) शुरू हुई थी है।
  • वर्ष 2016 में, मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा सरकार ने गीता महोत्सव को राष्ट्रीय महोत्सव बनाया और इस मेले को अंतरराष्ट्रीय स्तर का स्वरूप दिया गया।
  • वर्ष 2016 में, पहली बार गीता जयंती को लेकर मॉरिशस में कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here