हरियाणा में हर परिवार का ‘परिवार पहचान पत्र’ बनेगा, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

0
242

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि जल्द ही हरियाणा में प्रत्येक परिवार का ‘परिवार पहचान पत्र’ बनाया जाएगा| इससे न केवल लाभार्थियों (beneficiaries) को विभिन्न नागरिक केंद्रित सेवाओं (various citizen centric services) की स्वचालित प्रदायगी सुनिश्चित करेगा, बल्कि भ्रष्टाचार पर भी लगाम लगेगी | यह पहचान पत्र शून्य शेष (जीरो लेफ्ट आउट) भी सुनिश्चित करेगा।

वीडियो कांफ्रेंसिंग मीटिंग के माध्यम से जानकारी देते हुए सीएम ने यह जानकारी सभी डीसी को दी, साथ ही उन्होने बताया कि ‘परिवार पहचान पत्र’ संयुक्त और एकल दोनों परिवारों के बनाए जाएंगे।

वित्त और योजना मंत्री कैप्टन अभिमन्यु (Finance Minister) भी बैठक में उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री ने बताया कि सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना (SECC) 2011 पर आधारित लगभग 46 लाख परिवारों का डाटाबेस पहले से ही तैयार किया जा चुका है और इसे फैमिली आईडी मैपिंग पोर्टल  http://www.edisha.gov.in पर अपलोड किया गया है। प्रत्येक परिवार के लिए 14 अंकों का आईडी नंबर तैयार है।

परिवारों के प्रवास, परिवार में मृत्यु या नए जन्म के बाद एसईसीसी-2011 पर आधारित डाटा को अपडेट करने के लिए राज्य के सभी जिलों में परिवार डाटा के अपडेशन के बारे में बड़े पैमाने पर कवायद जारी है। राज्य में लगभग 54 लाख परिवार हैं, जिन्हें इस कवायद में शामिल किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने DC को निर्देश दिए कि वे एसडीएम कार्यालयों, तहसीलों, ब्लॉक कार्यालयों, स्कूलों, राशन डिपो, गैस एजेंसियों जैसे पब्लिक डीलिंग के सभी कार्यालयों में परिवार पहचान पत्र प्रफॉर्मा (Praforma) की हार्ड कॉपी रखें ताकि योजनाओं के लाभार्थी अपने परिवार का विवरण अपडेट कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here