झज्जर के मातनहेल में स्थापित होगा हरियाणा का तीसरा सैनिक स्कूल

0
202

जल्द ही हरियाणा में तीसरे सैनिक स्कूल की स्थापना की जाएगी| केंद्र सरकार ने इस के लिए मंजूरी दे दी है | इस स्कूल की स्थापना के लिए राज्य सरकार और रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार के बीच जल्द ही एक समझौते पर हस्ताक्षर (MoU) किए जाएंगे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य सरकार झज्जर के मातनहेल की ग्राम पंचायत द्वारा प्रदान की गई 38 एकड़ भूमि पर सैनिक स्कूल के निर्माण के लिए 50 करोड़ रुपये उपलब्ध करवाएगी और डीड का डेढ करोड़ रुपये वार्षिक प्रदान करेगी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने लिखा पत्र –

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने तत्कालीन केंद्रीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को पत्र लिखकर गांव मातनहेल में एक सैनिक स्कूल स्थापित करवाने का अनुरोध किया था ताकि राज्य के युवाओं का रक्षा बलों में भर्ती होकर राष्ट्र की सेवा करने का सपना पूरा हो सके।  इसलिए, पत्र में कहा गया कि हरियाणा से बड़ी संख्या, लगभग 10 प्रतिशत युवा नियमित आधार पर सशस्त्र बलों में भर्ती होते हैं। तत्कालीन केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री जॉर्ज फर्नांडीस ने 7 सितंबर, 2003 को स्कूल की आधारशिला रखी थी। हालांकि, वर्ष 2009 में तत्कालीन मुख्यमंत्री के एक प्रयास के बावजूद यह परियोजना फलीभूत नहीं हुई।

राज्य सरकार वहन करेगी खर्च –

प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार सैनिक स्कूल के लिए आवश्यक भूमि, भवन, फर्नीचर, परिवहन और शैक्षणिक उपकरणों पर होने वाले समस्त पूंजीगत खर्च के अलावा बाद के खर्चों का एक बड़ा हिस्सा वहन करेगी।

सैनिक स्कूल के लिए उपलब्ध करवाई गई मौजूदा भूमि को पट्टे पर सैनिक स्कूल सोसाइटी को सौंपा जाएगा और रक्षा मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार समय-समय पर उसका नवीनीकरण किया जाएगा।

कमजोर वर्गों के सभी लडक़ों को मिलेगी छात्रवृत्तियां –

राज्य सरकार समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के सभी लडक़ों (केवल हरियाणा के छात्र) को गवर्नर्स बोर्ड द्वारा समय-समय पर तय दरों और आय स्लैब के आधार पर छात्रवृत्तियां भी प्रदान करेगी।

रक्षा मंत्रालय उपलब्ध करवाएँगे स्टाफ –

रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रिंसिपल, हेडमास्टर और रजिस्ट्रार के पदों के लिए सेवा अधिकारी उपलब्ध करवाए जाएंगे। मंत्रालय सभी सैनिक स्कूलों के लिए लागू मौजूदा मानदंडों के अनुसार राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCO) स्टाफ और सेना शारीरिक प्रशिक्षण कोर (NCC) गैर-कमीशन अधिकारी भी उपलब्ध करवाएगा। उन्होंने बताया कि रक्षा मंत्रालय मौजूदा मानदंडों के अनुसार छात्रवृत्ति का केंद्र का हिस्सा भी प्रदान करेगा। इसके अलावा, रक्षा मंत्रालय के तहत कार्य कर रही सैनिक स्कूल सोसाइटी के माध्यम से स्कूल का पर्यवेक्षण और नियंत्रण भी किया जाएगा।

हरियाणा में दो सैनिक स्कूल है ?

  1. सैनिक स्कूल रेवाड़ी
  2. सैनिक स्कूल कुंजपुरा, करनाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here