हरियाणा में नगर निगम के चुनाव में पहली बार मेयर को सीधे जनता चुनेगी

0
78

हरियाणा के चुनाव आयोग ने इस वीरवार को हरियाणा में नगर निगम के चुनावों के लिए ऐलान किया| 16 दिसम्बर से हरियाणा में पाँच नगर निगमों हिसार, यमुनानगर, रोहतक, करनाल और पानीपत के चुनाव होने जा रहे है| 1 से 6 दिसंबर तक नामांकन पत्र भरें जाएंगे व 19 दिसंबर को इनकी मतगणना होगी|

आपको बता दें की चुनाव आयोग ने इस बार बड़ा फैसला लेते हुए प्रदेश में पहली बार मेयर का चुनाव डायरेक्ट करवाने का फैसला लिया है और इन चुनावों में जनता सीधे अपने मेयर को चुन सकेगी|

EVM मशीन से होगा चुनाव

चुनाव आयोग ने कहा कि चुनाव EVM मशीन के जरिए करवाएँ जाएंगे। जिसमें कैंडिडेट का फोटो भी होगा। वही पद के अनुसार कलर भी अलग-अलग होगा। जिसमें मेयर के लिए पिंक बैलट पेपर तथा पार्षद के लिए सफेद बैलट पेपर होगा।

सुरक्षा और आचार संहिता –

चुनाव आयोग ने कहा कि जैसे कि चुनाव डायरेक्ट होगा तो इसमें कानून व्यवस्था पर भी जोर दिया जाएगा। जिसके चलते बूथों पर कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए जाएंगे। साथ ही गुरूवार 12 बजे से आचार संहिता को लागू कर दिया गया है। ताकि किसी भी तरह की अड़चन वोटिंग के दौरान न हो।

इसे भी पढे – हरियाणा के एक गाँव और एक कस्बे को मिलेगा नगरपालिका का दर्जा, हरियाणा में 55 होगी नपा

देना होगा खर्च का ब्यौरा –

चुनाव आयोग ने कहा कि इस बार चुनाव में मेयर के पद पर चुनाव लड़ने वाला उम्मीदवार 20 लाख की राशि खर्च कर सकता है। वहीं पार्षद 5 लाख और कमेटी पार्षद 2 लाख की राशि खर्च कर सकता है। जिसके चलते सभी उम्मीदवारों को 30 दिन के अंदर डिप्टी कमीश्नर को खर्च का सारा ब्यौरा देना होगा। चाहे फिर वो उम्मीदवार चुनाव जीते या फिर हारे। दोनों ही सुरत में ये अनिवार्य है।

चुनाव में नोटा को लेकर किया बड़ा बदलाव –

चुनाव आयोग ने चुनावों में नोटा को लेकर बड़ा बदलाव किया है। इस बार नोटा भी कैंडिडेट होगा। जिसके चलते अगर इलेक्शन में नोटा को हाईऐस्ट वोट मिलते हैं तो चुनाव दोबारा होंगे। जिसमें पहली बार भाग लेने वाले कैंडिडेंट को बाहर कर दिया जाएगा। बता दें कि देश में पहली बार नगर निगम के चुनावों में नोटा को लागू किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here