गांव खानक के छोरे मोहित बिश्नोई ने किलीमंजारो पर फहराया तिरंगा

0
106

हाल ही में हरियाणा के भिवानी जिले के गाँव खानक के निवासी मोहित बिश्नोई ने दक्षिण अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलीमंजारो पर तिरंगा फहरा कर अपने गाँव व देश का नाम रौशन किया है|

गांव खानक के छोरे मोहित बिश्नोई ने किलीमंजारो पर फहराया तिरंगा

मोहित ने 18 नवंबर को तंजानिया से प्रात: 6 बजे चढ़ाई शुरू की व 21 नवंबर को प्रात: 11 बजकर 45 मिनट पर अपना लक्ष्य हासिल कर लिया। मोहित ने इस चढ़ाई को 96 घंटे में पूरा किया।

दक्षिण अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलीमंजारो की ऊंचाई 5895 मीटर है |

मोहित विश्नोई अशोक शुक्ल, विकास राणा व रोहतास खिलेरी को अपना गुरु मानते | हिसार के माउंट एवरेस्ट विजेता रोहताश खिलेरी से प्रेरणा लेकर उन्होंने माउंटेनरिंग फील्ड में कदम रखा और उन्हीं से गाइडलाइन लेकर पर्वतारोहण अभियान की शुरुआत की।

मोहित ने बताया की उन्होने अपने पर्वतारोहण की शुरुआत जम्मू कश्मीर के पहलगाव में स्थित जवाहर इंस्टीट्यूट ऑफ विंटर स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट से 29 अगस्त से लेकर 21 अक्टूबर तक बेसिक कोर्स की ट्रेनिंग से की| । बेसिक कोर्स में उन्हें रॉक क्लाइंबिंग करना, रेपलिंग करना आइस क्लाइमिंग करना, रोप को अलग अलग तरह से बांधना जैसी बहुत सारी एक्टिविटी करना हमने सीखा |

इस प्रकार 1 महीने का प्रशिक्षण के बाद उन्होंने हिमालयाज एक्सपीडिशन नाम की कंपनी से कांटेक्ट किया और माउंट किलिमंजारो अभियान की शुरुआत की माउंट किलिमंजारो साउथ अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी है।  इस चढ़ाई के लिए मुझे मेरी फैमिली सुभाष पूनिया, नरेश, लीलू राम पुनिया और बड़े भाई सुखचैन बिश्नोई ने सपोर्ट किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here