यूथ ओलंपिक में तीरदांजी में सिल्वर जीत पहले भारतीय बने हरियाणा के आकाश मलिक

0
130

हिसार के उमरा गांव के किसान के बेटे ने युथ ओलंपिक गेम्स 2018 (Also Known as III Summer Youth Olympic Games) में तीरदांजी सिल्वर मेडल जीतकर देश और प्रदेश का नाम रोशन किया है। आकाश मलिक फाइनल मुकाबले में अमेरिका के ट्रेंटन कोलेस से 6-0 से हार गए थे।

युथ ओलंपिक गेम्स में तीरदांजी में सिल्वर मेडल जीतने वाले वे पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए है। इससे पहले इन खेलों में अतुल वर्मा ने साल 2014 में कांस्य पदक जीता था।

यूथ ओलंपिक में तीरदांजी में सिल्वर जीत पहले भारतीय बने हरियाणा के आकाश मलिक

भारत ने अब तक इन खेलों में तीन स्वर्ण, नौ रजत और एक कांस्य पदक जीता। क्वॉलिफिकेशन के बाद पांचवीं वरीयता प्राप्त आकाश फाइनल में लय कायम नहीं रख सके। कोलेस ने सिर्फ दस और नौ में स्कोर करके आसानी से जीत दर्ज की। तीन सेटों के मुकाबले में दोनों ने चार बार परफेक्ट 10 स्कोर किया लेकिन आकाश ने पहले और तीसरे सेट में दो बार सिर्फ छह स्कोर किया।

आकाश ने छह साल पहले तीरंदाजी शुरु की थी और वो उमरा में तीरंदाजी कोच मनजीत मलिक ने उसे ट्रायल के लिए चुना था।

आकाश के पिता नरेंदर मलिक गेहूं और कपास की खेती करते हैं | आकाश ने पिछले साल युवा ओलंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल जीता था। उसने एशिया कप पहले चरण में गोल्ड, दूसरे में दो कांस्य और दक्षिण एशियाई चैम्पियनशिप में एक सिल्वर और एक कांस्य पदक जीता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here