हरियाणा करेंट अफ़ेयर्स – अगस्त 2018 | Download pdf

0
1141

हरियाणा संबंधी अगस्त माह, 2018 के करेंट अफ़ेयर्स दिये गए है, जो आपकी एचएसएससी, हरियाणा पुलिस आदि परीक्षाओ में आपकी मदद करेंगे| नीचे पोस्ट में दिये लिंक से आप इन्हे पीडीएफ़ में डाउनलोड करे सकते हो|

हरियाणा करेंट अफ़ेयर्स – अगस्त 2018

एशियाई खेल-2018 में पदक हासिल करने वाले हरियाणा के खिलाड़ियों की सूची –

एशियाई खेल-2018 का आयोजन इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता किया गया | एशियाई खेल-2018 की लगभग 36 खेल स्पर्धाओं में अपनी भागीदारी के लिए भारत से 572 के लगभग खिलाड़ीयों ने भाग लिया| अकेले हरियाणा से 83 खिलाड़ी इन स्पर्धाओं में हिस्सा लिया| इनमें 50 पुरुष और 33 महिला खिलाड़ी शामिल के नाम शामिल हैं ।

एशियाई खेल-2018 में पदक हासिल करने वाले हरियाणा के खिलाड़ियों की सूची

आपको बता दें कि एशियाई खेल-2014 जो कि इंचियोन में हुए आयोजित किए गए थे, में भारत ने 57 पदक जीते थे, जिनमें 11 गोल्ड, 10 सिल्वर और 36 ब्रांज मेडल थे। इनमें अकेले हरियाणा के खिलाडिय़ों ने 23 पदक जीते थे। आपको बता दें कि एशियाई खेलों की पदक तालिका में भारत आठवे नंबर पर है। भारत अब तक एशियाई खेलों में कुल 686 पदक जीत चुका है।

Asian Games-2018. In Asian Games-2018 India got 8th Position with 69 Medals including 15 Gold, 24 Silver, and 30 Bronze.

हरियाणा के खिलाड़ियों द्वारा एशियाई खेल-2018 बनाए गए इतिहास –

  • एशियाई खेल-2018 की Opening Ceremony में हरियाणा के नीरज चोपड़ा ने का Flag March में भारत का नेतृत्व किया|
  • नीरज चोपड़ा पहले ऐसे भारतीय बने जिन्होंने Jevelin Through में भारत को गोल्ड दिलवाया|
  • वीनेश फ़ौगाट Women Freestyle 50 kg में भारत को गोल्ड दिलवाने वाली पहली पहलवान बनी|
  • रानीरामपाल ने Closing Ceremony में भारत की तरफ से Flag March किया |
  • एशियाई खेल-2018 में पदक हासिल करने वाले हरियाणा के खिलाड़ियों की सूची

एशियाई खेल-2018 में पदक हासिल करने वाले हरियाणा के खिलाड़ियों की सूची

Sr Name Game Event Medal Related Place
1 Bajrang Poonia Wrestling Men’s Freestyle 65 kg Gold Kundan, Jhajjar
2 Neeraj Chopra Athletics Men’s Javelin Throw Gold Kundra, Panipat
3 Vinesh Fougat Wrestling Women Freestyle 50 kg Gold Ch. Dadari
4 Arpinder Singh Athletics Men’s Triple Jump Gold Sonipat
5 Amit Panghal Boxing Men’s Light Fly 49 kg Gold Mayna, Rohtak
6 Manjeet Singh Chahal Athletics Men’s 800m Gold Ujhana, Narwana
7 Lakshay Sheoran Shooting Trap Men Silver Jind
8 Sanjeev Rajput Shooting 50m Rifle 3 Positions Men Silver Yamuna Nagar
9 Ashish Malik Equestrian Eventing Team Silver Rohtak
10
  1. Rani Rampal
  2. Navjot Kour
  3. Savita Poonia
  4. Monika Malik
  5. Navneet Kour
  6. Neha Goyal
Hockey Women’s Tournament Silver
11 Seema Poonia Athletics Women’s Discus Throw Bronze Sonipat
12 Abhishek Verma Shooting 10m Air Pistol Men Bronze Palwal
13 Vikas Krishan yadav Boxing Men’s Middle 75 kg Bronze Bhiwani
14 Narender Grewal Wushu Men’s Sanda 65 kg Bronze Satrod, Hisar
15 Dushyant Chouhan Rowing Men’s Lightweight Single Sculls Bronze Jhajjar
16
  1. Surender Palad
  2. Sardara singh
Hockey Men’s Tournament Bronze
17
  1. Pardeep Narwal
  2. Sandeep Narwal
  3. Deepak Nivas Hooda
Kabaddi Men’s Team Bronze

 


एस एन आर्य होंगे हरियाणा के नए राज्यपाल, 6 और राज्यों के राज्यपाल बदले –

21 अगस्त 2018, केंद्र सरकार (Central Govt) ने हरियाणा समेत 7 राज्यों के राज्यपाल को बदल दिया है| आपको बता दें कि बिहार के सत्यदेव नारायण आर्य (एस एन आर्य) को हरियाणा का नया राज्यपाल बना दिया गया है|

एस एन आर्य होंगे हरियाणा के नए राज्यपाल, 6 और राज्य के राज्यपाल बदले

खबर थी कि कुछ गलतफहमियों की वजह से सत्यदेव नारायण आर्य को पटना के प्रसिद्ध डॉक्टर एस एन आर्य समझ लिया गया था | हालांकि बाद में यह स्पष्ट हुआ कि हरियाणा के नए राज्यपाल पटना के डॉक्टर नहीं बल्कि नालंदा से आने वाले भाजपा के दिग्गज नेता हैं|

सत्यदेव नारायण आर्य से संबन्धित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी –

  • जन्म तिथि- 1-7-1947
  • पिता का नाम – स्वर्गीय शिवप्रसाद
  • मां का नाम – स्वर्गीय सुंदरी देवी
  • सत्यदेव नारायण आर्य नालंदा (बिहार) के राजगीर के रहने वाले हैं |
  • शैक्षणिक योग्यता- एमए एलएलबी पार्ट वन
  • विधानसभा क्षेत्र- राजगीर 173
  • एस एन आर्या बिहार में खान एवं भूविज्ञान मंत्री रह चुके हैं |
  • वे अपने विधान सभा क्षेत्र राजगीर से आठ बार विधायक रह चुके हैं |

अन्य राज्य जिनके राज्यपाल बदलें गएं है –

  • जम्मू-कश्मीर – सत्यपाल मलिक (पूर्व बिहार के राज्यपाल)
  • बिहार – लालजी टंडन (भाजपा नेता)
  • सिक्किम – गंगा प्रसाद (पूर्व मेघालय के राज्यपाल)
  • त्रिपुरा – प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी (पूर्व हरियाणा के राज्यपाल)
  • उत्तराखंड – बेबी रानी मौर्या
  • मेघालय – तथागत रॉय

भूटान में हुए फुटबॉल मैच में हिसार की बेटियों ने जीता गोल्ड

हरियाणा की बेटियां दिन-प्रतिदिन किसी न किसी क्षेत्र में देश-प्रदेश का नाम रौशन कर रही है और ये साबित कर रही है की बेटियाँ भी बेटों से कम नही है| हरियाणा के हिसार जिले की बेटियों ने ऐसा ही कारनामा किया कर दिखाया है|

भूटान में आयोजित हुई फुटबॉल चैंपियनशिप (Football Championship) में संत जोसफ इंटरनेशनल स्कूल (Saint joseph international school)  की बेटियों ने गोल्ड जीत कर अपना और अपने स्कूल का नाम पूरे हरियाणा में रौशन किया है|

भूटान में हुए फुटबॉल मैच में हिसार की बेटियों ने जीता गोल्ड

यह जानकारी मंगलवार को हिसार स्थित गोबिंद पैलेस में प्रेस वार्ता के दौरान संत जोसफ इंटरनेशनल स्कूल के निर्देशक (Director) ने दी ।

उन्होंने बताया कि ऐसा करके स्कूल की खिलाड़ी बेटियों ने साबित कर दिया कि अगर उन्हें सही मार्ग दर्शक, उचित सुविधा, पोजिटिव माहौल मिले तो वे हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा दिखा कर राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर अपने क्षेत्र, प्रदेश, राज्य और देश का नाम रौशन कर सकती है| जैसा की स्कूल की आठ बेटियों ने भारतीय महिला अंडर-15 आयुर्वग फुटबॉल टीम ने देश का नेतृत्व भूटान में करते हुए किया हैं। इसके अलावा सीबीएसई नार्दन रीजन सुब्रतों कप (CBSE Northern Region Subroto Cup) में भी गोल्ड मैडल जीता था तथा नेशनल में स्थान बनाया।

आपको बता दें, की हाल ही में सम्पन्न हुई अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा सैफ अंडर-15 (International Competition Saif Under-15) आयुवर्ग की महिला फुटबॉल चैम्पियनशिप (Women’s Football Championship) भूटान में आयोजित हुई थी। जिसमें बंगला देश की टीम को फाइनल में हरा कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। फाइनल में पहुंचने  से पहले भी भारतीय टीम ने श्रीलंका, भूटान, नेपाल को हराया|

सीबीएसई नेशनल अंडर-17 (Cbse National Under-17) महिला फुटबॉल का मुकाबला ग्वालियर में इण्डियन एयर फोर्स द्वारा अक्टूबर माह में आयोजित करवाए जाएंगे| ग्रुप  का लक्ष्य उच्च व गुणवत्ता शिक्षा देकर शिक्षा, खेलकूद व अन्य गतिविधियों में विद्यार्थी को अंतर्राष्ट्रीय सुविधा मुहैया करवा कर नए आयाम स्थापित करना है, जिसमें बच्चों द्वारा हासिल लक्ष्य के माध्यम से हम काफी करीब पहुंच गए है।

इस पर स्कूल संचालक ने कहा कि प्रतिभौगिक स्तर के सभी विद्यालयों को साथ लाना तथा राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं के लिए उनका सहयोग करना है, विद्यालयों में प्रतिस्पर्धा की भावना पैदा करके उनके सुधार के लिए और अच्छे विकल्प प्रदान करना है।

बता दें की सेंट जोसफ स्कूल फुटबॉल टीम की ये है खिलाड़ी लड़किया- शोभा, मनीषा, खुशबू, सुमन, पूनम, प्रीति, नकेता, रीनू, ममता, सारिका, मोनिका, कोमल, निशा, वर्षा, पूनम सिंह, कविता, मनीषा, अंजु, किरण, रितु जिन्होंने गोल्ड हासिल कर अपने स्कूल का ही नहीं पुरे देश का नाम रोशन किया है।


हरियाणा के जस्सू पंडित का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्कल कबड्डी में हुआ चयन

बहादुरगढ़ के सिद्धीपुर लोवा गांव का पहलवान जस्सू पंडित जिनका नाम सर्कल कबड्डी के बड़े सितारों में अदब से लिया जाता है, अब अतंररास्ट्रीय स्तर पर कबड्डी का सितारा बन चुका है। जस्सू पंडित 80 किलो भार वर्ग और ओपन वर्ग में यूरोप के चार देशों में कबड्डी में अपना जौहर दिखाएंगे।

आपको बता दें कि यूरोप के चार देशों में होने वाले सर्कल कबड्डी टूर्नामेंट में रेडर के तौर पर जस्सू पंडित का चयन हो गया है। जस्सू हालैंड (Holland) क्लब के तरफ से प्रतियोगिता में भाग लेगा। जस्सू रेडर के तौर पर तीसरी बार यूरोप में खेलेंगे| सर्कल कबड्डी में आने से पहले जस्सू इंटरनेशनल लेवल (International Level) का पहलवान रह चुके है।

हरियाणा के जस्सू पंडित का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्कल कबड्डी में हुआ चयन

सुशील और योगेश्वर के साथ कुश्ती के दांव पेंच सीख चुके है जस्सू –

जस्सू पंडित इससे पहले भी यूरो कप (Yuro Cup) में भारतीय टीम का हिस्सा था और जर्मनी में खेलते हुए सैकेंड बेस्ट रेडर भी रहा था। जस्सू पंडित सर्कल कबड्डी से पहले सुशील और योगेश्वर के साथ कुश्ती के दांव पेंच सीखता था। 57 किलो ग्राम भार में कुश्ती खेलते हुए जस्सू ने सब जूनियर, जूनियर, स्टेट और इंटर यूनिवर्सिटी कुश्ती में सिल्वर और गोल्ड मेडल भी जीता था।

साल 2009 में ईरान में हुई एशियन कुश्ती चैम्पियनषिप में भी जगह बनाई थी। लेकिन चोटिल होने के कारण जस्सू को कुश्ती छोड़नी पड़ गई।

कैसे बने जस्सू सर्कल कबड्डी के सितारे –

एक दिन वह गांव वालों के साथ सर्कल कबड्डी खेलने गया| उन्होने इतने शानदार अंदाज और तकनीक से कबड्डी खेली जिससे उन्हे हरियाणा के बेस्ट प्लेयरों की मौजूदगी में बेस्ट रेडर बनाया गया और उसी दिन से उनकी सर्कल कबड्डी शुरू हो गई।


बैंकॉक में हुए बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में सबसे छोटी उम्र में बॉक्सिंग बेल्ट जीतने वाला हरियाणा का छोरा

बैंकॉक में हुए बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में हरियाणा के फरीदाबाद जिले के छोरे प्रदीप ने बेल्ट जीत कर पूरे देश का नाम रोशन किया है। बैंकॉक में 5 अगस्त 2018 को आयोजित WBC एशियन चैम्पियनशिप (WBC Asian Championship) टाईटल बॉक्सिंग में प्रदीप ने बॉक्सिंग में सबके छक्के छुड़ाते हुए बेल्ट पर जीत हासिल की।

बैंकॉक में हुए बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में सबसे छोटी उम्र में बॉक्सिंग बेल्ट जीतने वाला हरियाणा का छोरा

प्रदीप WBC एशियन चैम्पियनशिप टाईटल बॉक्सिंग बेल्ट जीत कर देश के सबसे छोटी उम्र के पहले ऐसे खिलाड़ी बने जो दूसरे देश में बेल्ट जीती है। प्रदीप की आयु मात्र 22 वर्ष है, अब तक प्रदीप ने नेशनल गेम में 3 गोल्ड मैडल और 2 गोल्ड मैडल इंटरनेशनल गेम में जीत चुका है।

प्रदीप खरेरा ने बताया कि अब वह वर्ल्ड चैम्पियनशिप की तैयारी करेंगे। वह चाहते हैं कि सरकार उनकी कोई मदद करे ताकि वह वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भी गोल्ड जीत कर देश और प्रदेश का नाम रोशन कर सके।

आगे प्रदीप ने बताया कि उन्हें हरियाणा सरकार से अबतक कोई मदद नहीं मिली है। प्रदीप खरेरा के पिता राजीव खरेरा सरकारी महकमे में क्लर्क के पद पर कार्यरत हैं। वह आज भी किराए के मकान में रहते हैं। राजीव खरेरा भी अपने बेटे की इस जीत पर काफी खुशी जाहिर कर रहे हैं।


पेंशन बनवाना हुआ आसान, किया ये बड़ा बदलाव, 1नवंबर से मिलेगी 2000 रुपये मासिक बुढ़ापा पेंशन –

हरियाणा सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है, सरकार ने पेंशन के नए नियम लागू किए है|

  • नए नियमों के तहत अब संतान की उम्र 40 साल होते ही बुजुर्ग अपनी बुढ़ापा पेंशन बनवा सकता है। इससे पहले संतान की उम्र 41 साल तय की गई थी|
  • सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग (Department of Social Justice and Empowerment) द्वारा बुढ़ापा सम्मान भत्ता योजना के तहत आयु के संबंध में लिये जाने वाले दस्तावेज एवं मेडिकल बोर्ड बारे में नये दिशानिर्देश जारी किए हैं जो इस प्रकार से है अब पेंशन के लिए पात्र व्यक्ति स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी जन्मतिथि प्रमाण पत्र, स्कूल प्रमाण पत्र, 16 जून 2016 से पूर्व जारी किया गया डीएल, पासपोर्ट, वर्ष 2005 या इससे पूर्व जारी किया गया स्वयं का फोटो युक्त पेन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र व फोटोयुक्त मतदाता सूची में से आवेदक अपनी आयु के आंकलन के लिए कोई एक दस्तावेज उपलब्ध करवाकर पेंशन का लाभ ले सकता है।
  • अगर किसी के पास कोई दस्तावेज नही है तो – यदि आवेदक के पास यह दस्तावेज नहीं है तो वह अपनी बड़ी संतान (लड़का/लड़की) की आयु 40 वर्ष होने का जन्मतिथि प्रमाण पत्र या स्कूल प्रमाण पत्र भी आवेदन फार्म के साथ लगा सकता
  • डीसी (Deputy Commissioner) ने बताया कि अगर किसी व्यक्ति का नाम दस्तावेज (Documents) में गलत है तो वह नाम परिवर्तन के लिए जिला मजिस्ट्रेट व पब्लिक नोटरी द्वारा सत्यापित शपथ पत्र व हिंदी व अंग्रेजी के एक-एक समाचार पत्र में विज्ञापन की औपचारिकता पूरी करके पेंशन का लाभ ले उठा सकते है।

अगर किसी आवेदक के पास संतान का भी 40 वर्ष आयु साबित करने के लिए कोई दस्तावेज नहीं है तब उसे क्या करना है –

डीसी डॉ. यश गर्ग ने बताया कि अगर किसी आवेदक के पास संतान का भी 40 वर्ष आयु साबित करने के लिए कोई दस्तावेज नहीं है तो वह आयु का आंकलन करने के लिए एक पत्र जिला समाज कल्याण अधिकारी (Social welfare officer) व डीसी (Deputy Commissioner) को दे सकता है। डीसी की अनुमति के बाद सिविल अस्पताल में गठित बोर्ड को आयु जांचने के लिए अर्जी दी जाएगी। हर माह दो डाक्टरों का पैनल एक दिन लोगों की आयु की जांच करेगा। अगर बोर्ड लिखकर देता है कि संबंधित व्यक्ति की उम्र 60 साल या इससे अधिक है तो उसे बुढ़ापा पेंशन का पात्र माना जाएगा|

1 नवंबर से मिलेगी रुपये 2000/ मासिक बुढ़ापा पेंशन –

जैसा की आपको पता सीएम मनोहर लाल पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि एक नवंबर 2018 से बुढ़ापा पेंशन दो हजार मासिक दी जाएगी, जो की वर्तमान में 1800 रुपये है।


15 अगस्त के अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री द्वारा की गई 6 मुख्य घोषणाएँ –

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने 15 अगस्त के दिन राज्य के विकास के लिए अनेक योजनाओं की घोषणा की | हिसार में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ड्रीम प्रोजेक्ट(Dream Project) एयरपोर्ट का विधिवत्त रुप से उद्घाटन किया। RCS (क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना) ‘उड़ान’ के तहत हवाई सेवाएं शुरू करने के लिए हिसार एयरपोर्ट तैयार है। हिसार एयरपोर्ट प्रदेश का पहला लाइसेंस एयरपोर्ट (Licence Airport) है। इस मौके पर वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु, विधायक कमल गुप्ता समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे।

इसके अलावा अन्य घोषणाएँ इस प्रकार से है –

  • ‘आयुष्मान भारत-हरियाणा स्वास्थ्य सुरक्षा योजना” को लागू किया जिसमें आर्थ्क रूप से कमजोर लोगो को स्वास्थ्य की सेवाएँ उपलब्ध कारवाई जाएंगी| यह योजना 25 सरकारी अस्पतालों में लागू की जा रही है, जिसमें सभी 22 जिलों में एक मुख्य सरकारी अस्पताल शामिल है। हरियाणा सरकार ने केंद्र की आयुष्मान भारत-हरियाणा योजना के तहत राज्य में आगामी 25 अगस्त से 26 हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर शुरू करने का निर्णय लिया है।
  • इस योजना के तहत, 15.50 लाख परिवारों को मुफ्त चिकित्सा उपचार सुविधाएं दी जाएंगी । एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि 5,00,000 रुपए तक का बीमा सहायता भी प्रदान की जाएगी।
  • 2 अक्टूबर से महात्मा गांधी की जयंती, राज्य के प्रत्येक घर में एलपीजी गैस सिलेंडर होगा।
  • मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि शारीरिक सुरक्षा पेंशन, जिसमें वृद्धावस्था भत्ता, विधवा पेंशन और शारीरिक रूप से चुनौतीपूर्ण पेंशन शामिल है, को रु। 1,800 से रु। 1 नवंबर से 2,000 प्रति माह।
  • ‘महारा गाँव जगमग गायन योजना’ के तहत 507 और गांवों को 24 घंटे बिजली की आपूर्ति शुरू की जाएगी। इसके साथ 2,380 से 24 घंटे बिजली आपूर्ति मिलने वाले गांवों की संख्या बढ़कर 2,887 हो गई है। उन्होंने कहा कि पंचकुला, अंबाला, फरीदाबाद, गुरुग्राम, फतेहाबाद और सिरसा जिलों के सभी गांवों को 24 घंटे बिजली आपूर्ति मिल रही है।
  • पूर्व सैनिकों के लिए, मुख्यमंत्री ने 23 मार्च को भिवानी जिले के रोहनत गांव की अपनी यात्रा के दौरान कहा कि उन्होंने लोगों को विभिन्न समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए स्वतंत्रता ट्रस्ट स्थापित करने के बारे में बात की थी। उन्होंने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कहा कि रोहनत स्वतंत्रता ट्रस्ट गठित किया गया है और यह जल्द ही काम करना शुरू कर देगा।

आयुर्वेदिक कॉलेज के BAMS ट्रेनी को मिलने वाले वजीफे में बढ़ोतरी, जाने कितना बढ़ा –

यह खबर उन प्रशिक्षुओं (Trainees) के लिए है जो भगत फूल सिंह महिला विश्वविद्यालय (Bhagat Phool Singh Woman University), खानपुर कलां, सोनीपत के एमएसएम आयुर्वेद संस्थान (MSM Ayurveda Institute) के Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery (BAMS) कर रहे है | आपको जानकर खुशी होगी कि हरियाणा सरकार ने प्रशिक्षुओं की छात्रवृत्ति को रुपये 4500 प्रतिमाह से बढ़ाकर रुपये 10,000 प्रतिमाह कर दिया गया है।

आपको बता दें कि यह छात्रवृत्ति आयुष विभाग द्वारा श्रीकृष्ण आयुर्वेदिक कॉलेज, कुरूक्षेत्र के विद्यार्थियों के लिए निर्धारित की गई छात्रवृत्ति के बराबर है।

इस सम्बन्ध में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विश्वविद्यालय के एमएसएम आयुर्वेद संस्थान के बीएएमएस प्रशिक्षुओं की छात्रवृत्ति को बढ़ाने की स्वीकृति प्रदान कर दी है। यह बढ़ोतरी विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार और विद्यार्थियों के आग्रह पर की गई है।


आयुष्मान भारत-हरियाणा स्वास्थ्य संरक्षण योजना (Ayushman Bharat Haryana Health Protection Scheme) –

हरियाणा सरकार ने केंद्र की आयुष्मान भारत योजना के तहत राज्य में आगामी 25 अगस्त से 26 हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर शुरू करने का निर्णय लिया है। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने 15 अगस्त 2018 को स्वतन्त्रता दिवस के अवसर पर इस योजना को हरी झंडी दे दी है|

इस योजना के तहत गरीब परिवारों को रुपए पाँच लाख तक का बीमा सुविधा प्रदान की जाएगी |

केंद्र सरकार देश की हर बड़ी पंचायत में स्थित स्वास्थय केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थय केंद्रों को हेल्थ एवं वैलनेस सेंटरों के रूप में विकसित किया जाएगा, जिससे देशवासियों विशेषकर ग्रामीणों को बेहतर स्वास्थय सेवाएं उपलब्ध होंगी। इन केंद्रों में आयुर्वेदिक, यूनानी, सिद्ध और योग पद्धति से भी इलाज की व्यवस्था होगी।

इस योजना के तहत लगभग 30 लाख परिवारों को इस योजना के दायरे में लाया जाएगा जिस पर लगभग 450 करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च का बोझ राज्य सरकार पर पड़ेगा। योजना के तहत हर परिवार को पांच लाख रुपये का का सालाना बीमा कवर दिया जाएगा जिससे छोटे और बड़े सभी तरह के अस्पतालों में इलाज कराया जा सकेगा।

मुख्य सचिव डी.एस. ढेसी की अध्यक्षता में आयुष्मान भारत-हरियाणा स्वास्थ्य संरक्षण प्राधिकरण की पहली बैठक में दी जिसका गठन राज्य में इस योजना के क्रियान्वयन के लिए किया गया है।

राज्य में यह योजना “आयुष्मान भारत-हरियाणा स्वास्थ्य संरक्षण मिशन” के नाम से संचालित की जाएगी। योजना में केंद्र और राज्य सरकार का क्रमश: 60:40 की दर से अंशदान होगा। इस योजना से राज्य में लगभग 15.5 लाख परिवारों को कवर किया जाएगा तथा इस पर लगभग 225 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इन परिवारों में ग्रामीण क्षेत्र के लगभग 9.25 लाख तथा शहरों के लगभग 6.25 परिवार शामिल हैं।


स्वतन्त्रता दिवस पर हिसार में किया राज्य का प्रथम एयरपोर्ट का शुभारंभ –

हिसार में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ड्रीम प्रोजेक्ट(Dream Project) एयरपोर्ट का विधिवत्त रुप से उद्घाटन किया। RCS (क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना) ‘उड़ान’ के तहत हवाई सेवाएं शुरू करने के लिए हिसार एयरपोर्ट तैयार है। हिसार एयरपोर्ट प्रदेश का पहला लाइसेंस एयरपोर्ट (Licence Airport) है। इस मौके पर वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु, विधायक कमल गुप्ता समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे।

अब दिल्ली और चंडीगढ़ के लिए हवाई सफर सुगम होगा। उन्होने बताया कि हरियाणा का पहला एयरपोर्ट हिसार में शुरु किया गया है। इससे लाखों लोगों को फायदा मिलेगा।  उन्होंने कहा पशुपालन विभाग, एवीयेशन विभाग सहित अन्य विभागों के साथ वार्ता करके हिसार ऐयर पोर्ट को बनाया गया है और लोगों को आने-जाने के लिए सुविधाएं मिलेगी।

हिसार से दिल्ली और चंडीगढ़ की सस्ती हवाई सेवा शुरू हो जाने से इस क्षेत्र में विकास एवं औद्योगिक गतिविधियां बढ़ेंगी, जिनका यहां की जनता को लाभ मिलेगा। हिसार से दिल्ली एयरपोर्ट की 150 किलोमीटर की दूरी है इसलिए यह हवाई अड्डे कागों हवाई अड्डा बनेगा।

हरियाणा के मुख्य मंत्री ने कहा कि हरियाणा से चंडीगढ़ और दिल्ली के हवाई यात्रा शुरु कर दी है जिसका किराया 1460 रुपये है। हिसार से उड़ने वाला हवाई यात्रा को हिमाचल, शिमला, धर्मशाला, सहित अन्य स्थानो पर जोड़ने के लिए बातचीत चल रही है इससे हरियाणा के लोगों आसानी से हवाई यात्रा में घुमने के लिए जा सकेंगे। इसके साथ ही नारनौल, करनाल, भिवानी, पिजौंर में पांच हजार मीटर की पट्टी बना कर छोटी हवाई यात्रा शुरु की जाएगी।

उन्होंने कहा कि आने वाले समय में यहा से हवाई यात्राए और बढाई जाएगी इसके लिए दूसरी कंपनियों से भी तालमेल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा में कुछ जिलों में सिटी बस यात्रा शुरु कर दी है और अन्य जिलों में सिटी बस शुरु की जाएगा। हरियाणा में लंबी दूरी का हाईवे भी बनाया जा सकेगा।

राव नरबीर सिंह ने बताया कि मैसर्ज पिनाकले एयरवेज लि. ने हिसार से चण्डीगढ़ व हिसार से दिल्ली हवाई रुट की सेवाएं देने के लिए एक सप्ताह में दोनों रुटों पर 6 फ्लाइट शुरू की सहमति दी है। उन्होंने बताया कि इस हवाई अड्डे के निर्माण पर 12.36 करोड़ रुपये खर्च हुए है और विभाग ने इसे रिकॉर्ड टाइम में तैयार किया गया है

अगले वर्ष के अंत तक बेहतरीन लैंडिंग सुविधाओं के साथ हवाई पट्टी का 9000 फीट तक विस्तार किया जाएगा। इस हवाई अड्डे के दूसरे चरण में बड़े विमानों के लिए पार्किंग, बेसिंग व रख-रखाव, मरम्मत और ओवरहॉलिंग की सुविधाएं होंगी।


हरियाणा के एक गाँव में आजादी के 70 साल बाद मनाया गया स्वतंत्रता दिवस, बेटी ने फहराया तिरंगा –

जहां पूरा देश आज आजादी के जश्म में डूबा है,  लेकिन ये आजादी का जश्न भिवानी के एक शहीद गांव रोहणात के लिए बहुत ही खास है। खास इसलिए क्योंकि आजादी के सत्तर साल दशकों बाद पहली बार गाँव में स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र ध्वज फहराया गया है और आजादी के गीत गाए गए हैं।

अब तक इस गांव के लोग अपने आप को आजाद देश में अपने आप को गुलाम समझते थे और इस बार राज्य के मुखिया मनोहरलाल के आश्वासन पर आजादी के जश्न में झुमें हैं।

यहाँ के ग्रामीणों का कहना है कि सीएम के भरोसे पर आज पहली बार गांव के स्कूल में आजादी का जश्न मनाया गया है और उम्मीद है कि उनकी मांग सीएम व सरकार जल्द पूरी करेंगें।


4,500-year-old skulls found in Rakhigarhi, Haryana –

4,500-year-old skulls found in Rakhigarhi, Haryana and the truth about Indian civilisation. Its DNA samples extracted from Citizen I4411, a male who lived in the Indus valley city of Rakhigarhi.

A new scientific discovery on the “Indus Valley Civilisation (IVC)”, especially in relation to Vedic culture. This, obviously, had some relevance, considering the current dispensation in the country. There is an effort to project the IVC as Vedic and backdate the accepted chronology of the ‘Vedas’ — India’s most ancient texts.


Haryana to implement 7th pay commission​ scale in universities & colleges –

The Haryana government implement the pay scale recommendations to the teaching and non-teaching staff of government universities, government colleges and government aided colleges with effect from January 1, 2016 as per the 7th pay commission.

The move will put an additional burden of Rs 230.6 crore annually on the state exchequer, said state finance minister Abhimanyu in an official release here.

2,853 Teaching and non-teaching staff working on various posts universities and colleges in the state would be benefited –

  • Assistant professors of universities and colleges would get Rs 57,700 to 79,800
  • Associate professors would get Rs 1,31,400 and professors would get Rs 1,44,200 to Rs 1,82,200, he added.
  • Assistant librarian of universities and colleges would get Rs 57,700 to Rs 68,900
  • Deputy librarian would get Rs 79,800 to Rs 1,31,400 and librarian would get Rs 1,44,200.
  • Lecturers, physical education in universities and colleges and assistant director of sports department would get Rs 57,700 to Rs 68,900
  • The deputy director would get Rs 79,800 to Rs 1,31,400 and director would get Rs 1,44,200.
  • The registrar and controller of examination would get Rs 1,44,200,
  • The Sub registrar and sub controller of examination would get Rs 79,800
  • The assistant registrar and assistant controller of examination would get Rs 56,100.

CUH Awarded with National Awards for work in area of plastic processing –

Central University of Haryana (CUH) faculty member Prof. Deepak Pant has been selected for the 8th National Awards for Technology Innovation in Petrochemicals and Downstream Plastics Processing Industry.

For his invention to utilize waste petrochemical products to value-added materials like epoxy, he award with the prize and cash amount of rupees of 1 lakh.

Prof. Deepak Pant has been associated with the Department of Chemistry of the newly established Central University of Haryana (CUH), Mahendragarh.

Central Institute of Plastics Engineering and Technology (CIPET), an autonomous organization under Department of Chemicals & Petrochemicals (DCPC), has been entrusted with the responsibility of implementing the scheme of the National Awards for Technology Innovation in Petrochemical sector and Downstream Plastics Processing Industry.

Click Below to Download in pdf – 

Haryana Current Affairs August 2018

Click Below Links for More GK & Current Affairs

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here