तेजाब हमलों का शिकार हुई युवतियों के लिए मासिक पेन्शन योजना को मंत्रिमंडल ने दी मंजूरी

0
41

हरियाणा सरकार तेजाब पीडि़त महिलाओं या लड़की को मासिक पेंशन दिए जाने की योजना बना रही है ताकि उन्हें आजीवन आय का निरंतर स्रोत मिल सके।

मंत्रिमण्डल की बैठक में ‘तेजाब पीडि़त महिलाओं एवं लड़कियों को वित्तीय सहायता योजना’ को स्वीकृति प्रदान की गई| इस मंत्रिमंडल की अध्यक्षता मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की|

यह योजना एक हद तक तेजाब पीडि़त महिला या लड़की के लिए गरिमा के साथ जीने का अधिकार दिलाएगी| इस योजना के तहत, 2 मई, 2011 को या उसके बाद तेजाब हमले का सामना करने वाली कोई भी महिला या लड़की इस योजना के लाभ के लिए पात्र होगी।

तेजाब हमलों का शिकार हुई युवतियों के लिए मासिक पेन्शन योजना को मंत्रिमंडल ने दी मंजूरी

‘तेजाब पीडि़त महिलाओं एवं लड़कियों को वित्तीय सहायता योजना’ किसके लिए है –

तेजाबी हमले को किसी अन्य व्यक्ति द्वारा किए गए हमले के रूप में परिभाषित किया जाता है और इसमें जाने-अजाने तेजाब के कारण स्वयं लगी चोटों को शामिल नहीं किया जाता है। शरीर के किसी भी हिस्से की विकृति के मामले में भी महिलाओं और लड़कियों के लिए वित्तीय सहायता स्वीकार्य होगी।

निशक्तता के प्रतिशत के आधार पर वित्तीय सहायता दी जाएगी। 40-50 प्रतिशत निशक्तता पर दिव्यांग पेंशन का 2.5 गुना, 51 से 60 प्रतिशत पर दिव्यांग पेंशन का 3.5 गुना और 61प्रतिशत से अधिक पर दिव्यांग पेंशन का 4.5 गुना दिया जाएगा।

इसके लिए कैसे आवेदन करें –

पीड़िता खुद या उसके माता-पिता या उसके कानूनी अभिभावक राहत के लिए जिला समाज कल्याण अधिकारी को आवेदन कर सकते हैं। नाबालिग पीडि़ता के मामले में, उसके माता-पिता या अभिभावक उसकी ओर से आवेदन कर सकते हैं। पीडि़त महिला के विवाहित होने की स्थिति में, उसका पति या माता-पिता या अभिभावक उसकी ओर से आवेदन कर सकते है।

आवेदन के साथ जिला स्तर, जहां पीडि़ता द्वारा या उसकी ओर से आवेदन किया गया है, पर मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी मेडिकल सर्टिफिकेट, एफआईआर / शिकायत की प्रति, महिला एवं बाल विकास विभाग से प्राप्त किए गए लाभ या आवेदन की प्रति जैसे दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे।

Leave a Reply