हरियाणा के जस्सू पंडित का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्कल कबड्डी में हुआ चयन

0
14

बहादुरगढ़ के सिद्धीपुर लोवा गांव का पहलवान जस्सू पंडित जिनका नाम सर्कल कबड्डी के बड़े सितारों में अदब से लिया जाता है, अब अतंररास्ट्रीय स्तर पर कबड्डी का सितारा बन चुका है। जस्सू पंडित 80 किलो भार वर्ग और ओपन वर्ग में यूरोप के चार देशों में कबड्डी में अपना जौहर दिखाएंगे।

आपको बता दें कि यूरोप के चार देशों में होने वाले सर्कल कबड्डी टूर्नामेंट में रेडर के तौर पर जस्सू पंडित का चयन हो गया है। जस्सू हालैंड (Holland) क्लब के तरफ से प्रतियोगिता में भाग लेगा। जस्सू रेडर के तौर पर तीसरी बार यूरोप में खेलेंगे| सर्कल कबड्डी में आने से पहले जस्सू इंटरनेशनल लेवल (International Level) का पहलवान रह चुके है।

हरियाणा के जस्सू पंडित का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्कल कबड्डी में हुआ चयन

सुशील और योगेश्वर के साथ कुश्ती के दांव पेंच सीख चुके है जस्सू –

जस्सू पंडित इससे पहले भी यूरो कप (Yuro Cup) में भारतीय टीम का हिस्सा था और जर्मनी में खेलते हुए सैकेंड बेस्ट रेडर भी रहा था। जस्सू पंडित सर्कल कबड्डी से पहले सुशील और योगेश्वर के साथ कुश्ती के दांव पेंच सीखता था। 57 किलो ग्राम भार में कुश्ती खेलते हुए जस्सू ने सब जूनियर, जूनियर, स्टेट और इंटर यूनिवर्सिटी कुश्ती में सिल्वर और गोल्ड मेडल भी जीता था।

साल 2009 में ईरान में हुई एशियन कुश्ती चैम्पियनषिप में भी जगह बनाई थी। लेकिन चोटिल होने के कारण जस्सू को कुश्ती छोड़नी पड़ गई।

कैसे बने जस्सू सर्कल कबड्डी के सितारे –

एक दिन वह गांव वालों के साथ सर्कल कबड्डी खेलने गया| उन्होने इतने शानदार अंदाज और तकनीक से कबड्डी खेली जिससे उन्हे हरियाणा के बेस्ट प्लेयरों की मौजूदगी में बेस्ट रेडर बनाया गया और उसी दिन से उनकी सर्कल कबड्डी शुरू हो गई।

जस्सू के चयन होने पर उनके गांव में खुशी की लहर है। जस्सू का कहना है कि गांव वालों, परिवार और साथियों के सहयोग से उसे ये उपलब्धि हासिल हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here