Famous Personalities of Haryana- 2018 | in Hindi

1
251

Famous Personalities of Haryana- 2018 

हैलो दोस्तों इस आर्टिकल में हम हरियाणा के जनवरी 2018 से जुलाई 2018 तक के चर्चित Personalities के बारें में बताने जा रहे हैं| हरियाणा के वे चेहरे जिन्होंने अपने हौसलों से मेहनत से अपना और हरियाणा का नाम देश-दुनियाँ में रौशन किया है| इन चेहरों में अधिकतर हरियाणा की बेटियाँ हैं जिन्होंने समाज से आगे बढ़कर समाज में महिलाओं के लिए एक मिशाल कायम की हैं |

हमें उम्मीद हैं कि आपकों हमारा ये आर्टिकल जरूर पसंद आएगा | चलिये जानते हैं हरियाणा के उन चेहरों के बारें में –

मनु भाकर (The Golden Girl)-

सबसे पहले हम बात करते हैं मनु भाकर की | मनु ने अब तक नेशनल, इंटरनेशनल आदि अनेक स्पर्धाओं में 11 गोल्ड मेडल जीतें हैं| मनु ने CWG-2018 में गोल्ड मेडल जीत कर देश-विदेश में हरियाणा का नाम रौशन किया| मनु ने CWG-2018 भारत को 3 गोल्ड और 2 सिल्वर मेडल दिलवाया | मनु ने खेलों इंडिया में भी गोल्ड जीत कर एक रेकॉर्ड अपने नाम किया जीता था| Sydney International Shooting Center, Sydney (Australia) में चल रहे आईएसएसएफ़ जूनियर वर्ल्ड कप में भारत की निशानेबाज मनु भाकर ने स्वर्ण पदक जीता| मैक्सिको में हुए सीनियर विश्व कप 16 वर्षीय मनु ने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में व्यक्तिगत स्वर्ण जीता था |

CWG की गोल्ड मेडलिस्ट मनु भाकर ने जर्मनी में जूनियर वर्ल्ड कप में जीता गोल्ड

शूटर मनु ने चेक रिपब्लिक की पिल्सन सिटी में चल रहे वर्ल्ड कप मीटिंग ऑफ शूटिंग होप्स गेम्स में 3 गोल्ड जीते जिनमें से 2 सिंगल 1 मिक्स्ड था|

  • मनु भाकर हरियाणा के झज्जर जिले के रहने वाली है |
  • मनु का पैतृक गांव गोरिया हैं |
  • मनु भाकर की आयु महज 16 वर्ष है |
  • निशानेबाजी से पहले मनु मुक्केबाजी किया करती थी लेकिन मुक्केबाजी मे आंख में चोट लगने के कारण, उनकी मां ने उन्हें मुक्केबाजी करने से मना कर दिया और मनु निशानेबाजी करने लगी |
  • मनु ने दिसंबर 2017 में जापान में हुई एशियन चैम्पियनशिप में दस मीटर एयर पिस्टल में भी सिल्वर मेडल जीता |
  • 2 साल पहले निशानेबाजी (Shooting) शुरु करने वाली मनु ने पिछले साल दो राष्ट्रीय रिकॉर्ड अपने नाम कर चुकी है|
[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

शिवांगी पाठक –

शिवांगी पाठक भारत की सबसे युवा पर्वतारोही है, जिन्होंने महज 17 वर्ष की आयु में विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट को फतेह कर नया कीर्तिमान स्थापित किया है| उनकी इस उपलब्धि के कारण उन्हे ‘The Eagle of Mountain’ टाइटल दिया गया |

हिसार की शिवांगी ने सबसे कम उम्र में एवरेस्ट को फ़तह कर रिकॉर्ड बनाया|

शिवांगी पाठक यहीं नहीं रुकी उन्होने 24 जुलाई को अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी Mount Kilimanjaro को फतेह कर एक नया रेकॉर्ड बनाया है| Mount Kilimanjaro को फतेह करने वाली शिवांगी पाठक भारत की सबसे युवा पर्वतारोही बन गई है | आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें

[ads1] [divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

नीरज चोपड़ा –

21वें कॉमनवैल्थ गेम्स (गोल्ड कोस्ट) में पुरुषों की भाला फेक (जैवलिन थ्रो) स्पर्धा में 20 वर्षीय नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीता हैइसी के साथ नीरज चोपड़ा भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं।

CWG-2018 : पानीपत के खनरा गांव के नीरज चोपड़ा भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी

आपको बता दें कि नीरज चोपड़ा खनरा गांव, पानीपत के रहने वाले है। नीरज ने फाइनल में जैवलिन थ्रो  में 86.47 मीटर की दूरी तय करते हुए स्वर्ण हासिल किया |  रजत पदक आस्ट्रेलिया के हेमिश पीकॉक (82.59 मीटर) के नाम रहा | ग्रेनेडा के एंडरसन पीटर्स (82.20 मीटर ) ने कांस्य पदक अपने नाम किया |

नीरज चोपड़ा का यह पदक एथलेटिक्स में भारत के लिए राष्ट्रमंडल खेलों में मात्र चौथा पदक है। उनसे पहले मिल्खा सिंह ने 1958, कृष्णा पूनिया ने 2010 और विकास गौड़ा ने 2014 राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक दिलाए हैं। भाला फेंक स्पर्धा में यह भारत का पहला स्वर्ण पदक है।

इससे पहले नीरज चोपड़ा ने पोलैंड में आईएएफ वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप (IAF World Under-20 Championship) के जैवलिन (भाला फेंक) प्रतियोगिता में नया वर्ल्ड रेकॉर्ड (अंडर–20) बनाया था। नीरज ने 86.48 मीटर भाला फेंका था।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

नरेंद्र यादव –

एवरेस्ट विजेता नरेंद्र यादव ने साउथ अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो पर सबसे कम समय में तिरंगा फ़हराकर विश्व-रिकॉर्ड अपने नाम किया है| नरेंद्र यादव ने 34 घंटे के विश्व रिकॉर्ड को तोड़ते हुए 17 घंटे में पूरा किया है|

नरेंद्र ने बताया कि यह अभियान उन्होने मराअंगु नाम के रास्ते से फतह किया गया है। इस उपलब्धि के लिए तंजानिया सरकार की तरफ से उसे एक प्रशस्ति प्रमाण पत्र दिया गया है।

हरियाणा के एवरेस्ट विजेता नरेंद्र ने बनाया विश्व रिकॉर्ड, सबसे ऊंची चोटी को 17 घंटे में फतेह किया

नरेंद्र यादव रेवाड़ी जिले के गांव नेहरूगढ़ निवासी है| उन्होने यह कीर्तमान 23 जुलाई सुबह 6.40 AM पर अर्जित किया है। इतना ही नहीं नरेंद्र यादव ने सबसे जल्दी उतरने के 20 घंटे के रिकॉर्ड को भी पीछे छोड़ते हुए मात्र 9 घंटे 7 मिनट में पूरा किया। इस तरह उन्होने 2 विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं।

वह पहले भी इस चोटी को वर्ष 2017 में मचामे नाम के रास्ते से फतह कर चुका है। उसका अब अगला लक्ष्य इंडोनेशिया व ऑस्ट्रेलिया का है, जिसके लिए वह भारत पहुंचकर तैयारी शुरू करेंगे।

नरेंद्र ने बताया कि उसका सपना 7 महाद्वीपों पर फतह करने का है। नरेंद्र के पिता कृष्णचंद आर्मी जवान रह चुके हैं। उनकी प्रेरणा व प्रोत्साहन से ही उन्होने एवरैस्ट फतह किया और अब दुर्गम चोटियों को फतह कर रहा है।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

अनीता कुंडु और सुनीता सिंह –

तीन बार एवरेस्ट फतेह करने वाली हिसार की अनिता कुंडू और रेवाड़ी की सुमिता सिंह को कल्पना चावला शोर्य पुरस्कार से सम्मानित किया गया | इस पुरस्कार में 51,000 नकद व प्रशस्ति पत्र भेंट स्वरूप दिया गया |

 

यह अवार्ड हरियाणा महिला एवं बाल विकास विभाग (Haryana Women & Child Development Department) की ओर से अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women Day) पर आयोजित कार्यक्रम में दिया गया|

अनीता कुंडु के बारें में  –

  • अनिता कुंडू उकलाना के फरीदपुर गांव से है |
  • उनके पिता ईश्वर कुंडू अनीता को बचपन में बॉक्सिंग की प्रेक्टिस कराते थे |
  • जब अनीता 13 वर्ष की थीं उस समय उनके पिता की एक हादसे में मौत हो गई जिसके चलते उनकी बॉक्सिंग छूट गई |
  • मां ने उन्हें पाला और उन्हें हरियाणा पुलिस (Haryana Police) में कांस्टेबल भर्ती कराया |
  • इसी से अनिता कुंडू ने बॉक्सिंग (Boxing) छोड़कर पर्वतारोही के तौर पर करियर शुरु किया |
  • अनिता कुंडू ने प्रथम बार, वर्ष 2013 में नेपाल की तरफ से माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) फतह किया
  • इसके बाद दूसरी बार वर्ष 2017 में चीन की तरफ से पार माउंट एवरेस्ट फतह किया|

सुनीता सिंह के बारें में –

पर्वतारोही अनीता कुंडू तथा सुनीता सिंह को "अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस" कल्पना चावला शोर्य पुरस्कार से सम्मानित किया गया |

  • सुनीता सिंह ने 20 मई, 2011 को एवरेस्ट पर भारतीय तिरंगा फहराया था |
  • सुनीता के इस उपलब्धि के बाद जिला प्रशासन ने पहल करते हुए उन्हे “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” अभियान का ब्रांड अंबेसडर (Brand Ambassador) बनाया था |
  • एवरेस्ट की चढ़ाई करने के अलावा सुनीता ने माउंट द्रौपदी की 5627 मीटर ऊंची चोटी, 5015 मीटर सीटाधार पीक, 5290 मीटर फ्रेंडशिप पीक, 5765 मीटर काब्रू नॉर्थ, माउंट नंदा देवी बेसकैम्प, मिलन ग्लेशियर हिमालय, 22 हजार फुट के माउंट जोनली, आइसलैंड पीक नेपाल, इको एवरेस्ट एक्सपेडिसन नेपाल, गंगोत्री, तपोवन, नंदनवन व वासुकीताल के अलावा अल्पाइन एक्सपेडिसन, उत्तराखंड की चढ़ाई की है |
  • सुनीता को भारत सरकार के यूथ अफेयर्स एंड स्पो‌र्ट्स विभाग (Youth affairs & Sports Dept.) की तरफ से भी भारत गौरव सम्मान भी मिल चुका है |
  • पिछले साल 8 मार्च, 2017 को सुनीता को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ओर से 8 मार्च को राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में ‘नारी शक्ति पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया था। राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने सुनीता को सम्मान स्वरूप 1 लाख रुपये नकद व प्रशस्ति पत्र दिया था।
[ads1] [divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

लेफ्टिनेंट प्रीति –

लेफ्टिनेंट प्रीति चौधरी, देश की तीसरी महिला बनी है, जिसे ‘स्वॉर्ड ऑफ ऑनर’ से सम्मानित किया गया है| यह सम्मान उन्हे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 2016 में दिया गया|

लेफ्टिनेंट प्रीति बनी “बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ” पानीपत की ब्रांड एम्बेस्डर

उनकी इस उपलब्धि पर पानीपत की उपायुक्त सुमेधा कटारिया ने उन्हे बधाई दी और पानीपत जिले में ‘बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ’ अभियान का ब्रांड एम्बेस्डर बना दिया।

अकैडमी ने अपने 55 साल के करियर में तीसरी बार किसी महिला कैडेट को स्वार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया है| (पहली – वर्ष 2010 में दिव्या अजित कुमार, दूसरी – 2015 में एम अंजना)

स्वार्ड ऑफ ऑनर, मेरिट लिस्ट में प्रथम स्थान पर रहे कैडेट को मिलता है| जिसमें कैडेट को फिजिकल टेस्ट, हथियारों की ट्रेनिंग, लीडरशिप क्वालिटी में शानदार क्षमताए आदि को प्रदर्शित किया जाता है| क्रॉस कंट्री रन, बॉक्सिंग, डिबेट आदि कॉम्पटिशन जितना होता है|

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

दीपक लाठेर –

21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में वेट लिफ्टर दीपक लाठेर (69 kg भार वर्ग में) में कांस्य पदक (bronze medal) जीता है | दीपक लाठेर पदक जीतने वाले सबसे युवा वेट लिफ्टिर बन गए।

जींद के दीपक लाठेर 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में कांस्य पदक जीतने वाले सबसे युवा वेट लिफ्टिर

दीपक लाठेर के नाम सबसे कम उम्र में राष्ट्रीय रिकॉर्ड (National Record) बनाने वाले में भी शामिल है। उन्होंने 15 साल की उम्र में 62 किग्रा वर्ग में राष्ट्रीय रिकार्ड बनाया था।

आपकों बता दे की दीपक लाठेर, हरियाणा के जींद जिले संबन्धित है| हरियाणा के 18 साल के लाठेर 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में 295 kg, 136 kg+ 159 kg का भार उठाकर तीसरे स्थान पर रहे और देश के लिए कांस्य पदक जीता।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

नवदीप सुहाग –

कंपटीशन कमीशन ऑफ इंडिया (Competition Commission of India) में हरियाणा के नवदीप सिंह सुहाग का उप-निदेशक के पद पर चयन हुआ है। नवदीप ने प्रतियोगिता में एक अंक से पीछे रह कर दूसरा स्थान हासिल किया |

हरियाणा के नवदीप सुहाग कंपटीशन कमीशन ऑफ इंडिया में उप-निदेशक नियुक्त

नवदीप इस समय हरियाणा सिविल सर्विर्सिज (Civil Services) परीक्षा में चयनित होकर बहादुरगढ़ में सहायक रोजगार अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं।

नवदीप सुहाग से संबन्धित जानकारी –

  • नवदीप सिंह सुहाग हरियाणा के जींद की दुर्गा कॉलोनी के रहने वाले है|
  • वर्ष 2004 में 12वीं कक्षा रोहतक के मॉडल स्कूल से पास की।
  • बी.ए. हिस्ट्री दिल्ली के हंसराज कालेज नॉर्थ कैम्पस से व एलएल.बी. और एलएल.एम. करने के बाद उन्होंने पीएच.डी. की उपाधि प्राप्त की।
  • वर्ष 2008 सम्मलित रक्षा सेवा की परीक्षा में आल इंडिया में पहला रैंक हासिल की |
  • वर्ष 2012 में केंद्रीय सशस्त्र पुलिसबल की आल इंडिया परीक्षा में चौथा स्थान प्राप्त किया |
  • वर्ष 2013 में हरियाणा सिविल सर्विर्सिज परीक्षा में हुआ था, तभी से वह बहादुरगढ़ में कार्यरत हैं।
  • नवदीप ने अब कंपीटिशन कमीशन ऑफ इंडिया (CCI) की सीधी भर्ती में भाग लेते हुए उप-निदेशक के पद पर बैठेंगे।
[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

जगजीत सिरोहा –

हरियाणा को पहली बार बॉडी बिल्डिंग (Body Building) में मिस्टर वर्ल्ड (Mister World) का खिताब मिला है। इस इतिहास को रचा है गांव राठधना के जगजीत सिरोहा ने  16 जून, 2018 को सलोवेनिया (यूरोप) में आयोजित वर्ल्ड चैंपियनशिप में हरियाणा की ओर से भारत का प्रतिनिधित्व करते जगजीत सिरोहा ने स्वर्णिम प्रदर्शन किया है।

हरियाणा के जगजीत बॉडी बिल्डिंग में बने मिस्टर वर्ल्ड

इंटरनेशनल बॉडी बिल्डिंग फिटनेस फेडरेशन (IBFF) के तत्वावधान में आयोजित चैंपियनशिप के 35 से 70 वर्ष आयुवर्ग में उन्होंने खिताबी जीत दर्ज की है। इस चैंपिशयनशिप में करीब 56 देशों के 450 से अधिक खिलाडिय़ों ने हिस्सा लिया। विभिन्न चरणों में सफलता के बाद अंत में जगजीत अपने आयुवर्ग के चैंपियन बने। Continue Reading……

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

अमनप्रीत कौर –

International Boxing Association ने अमनप्रीत कौर को भारत की प्रथम महिला बॉक्सिंग चीफ कोच घोषित किया है| International Boxing Association ने अमनप्रीत कौर को “Star to Coach” के पद से सम्मानित किया है|हरियाणा की अमनप्रीत कौर बनी भारत की प्रथम महिला बॉक्सिंग चीफ कोच

International Boxing Association के chairman अजय ने प्रमाण पत्र देकर इस पद से नवाजा है| अमनप्रीत कौर रोहतक इंटरनेशनल बाक्सिंग एकेडमी में महिला बॉक्सिंग खिलाड़ी तैयार कर रही हैं।

[ads2]

अमनप्रीत कौर से संबन्धित कुछ जानकारीयां –

  • अमनप्रीत कौर का जन्म छछरौली, जगाधरी में 1981 में अपने नाना के घर हुआ।
  • यहीं से उन्होने बॉक्सिंग की प्रेक्टिस शुरू की।
  • वर्ष 2001 में अमनप्रीत ने नेशनल स्तर की प्रतियोगिता में पहला मेडल जीता था।
  • अमन प्रीत कौर के पति बॉक्सिंग के इंटरनेशनल कोच हैं।
  • वर्ष 2003 से सीनियर वूमैन की कोच रही हैं। वह खिलाड़ियों को लेकर यूक्रेन गई थी। वहां सोनिया ने भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता था।
  • दिसंबर 2017 में उनकी टीम ने यूक्रेन में भारत की ओर से प्रतिनिधित्व करते हुए 4 गोल्ड, 2 सिल्वर, 2 ब्रोंज मेडल जीते।
  • जनवरी 2018 में साइबेरिया में 7वीं इंटरनेशनल जूनियर चैंपियनशिप में 13 मेडल भारत के लिए जीते। इसमें 8 गोल्ड, 3 सिल्वर, 2 ब्रोंज शामिल हैं।
[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

मौसम खत्री –

21वें कॉमनवैल्थ गेम्स (Gold Cost) में हरियाणा के सोनीपत जिले के पहलवान मौसम खत्री ने 97 किलोग्राम फ्री स्टाइल  कुश्ती में  सिल्वर मेडल जीतकर प्रदेश और देश का नाम रोशन किया है।

 

मौसम खत्री की 21वें कॉमनवैल्थ गेम्स (Gold Cost) में, जीत से उनके परिवार व गांव में खुशी का माहौल बना हुआ  है| मौसम के परिजनों का कहना है कि सेमीफाइनल (Semi Final) मैच में मौसम के घुटने में चोट लग गई थी जिसकी वजह से वे गोल्ड मेडल (Gold Medal) नहीं जीत पाए|

मौसम खत्री ने 2010-एशियाई खेलों में कांस्य जीता था और 2009 एवं 2011 में दो बार राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप जीत दर्ज  कर चुके की थी। उन्होंने साथ ही पिछले साल जोहानिसबर्ग में हुए राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था। मौसम देश के सबसे बड़े एक करोड़ के दंगल को दो बार जीत चुके हैं।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

संजीव राजपूत –

14 अप्रैल 2018 | 21वें कामनवेल्थ गेम में हरियाणा के खिलाड़ी बहुत ही शानदार प्रदर्शन कर रहे है। देश के अभी तक के 50 मेडल्स में आधे से ज्यादा मेडल्स हरियाणा के खिलाड़ियों के है| यमुनानगर के संजीव राजपूत ने पुरुषों की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस में देश को गोल्ड दिलाया है। संजीव ने कुल 454.5 का स्कोर करते हुए Game Record के साथ गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया। वह क्वॉलिफिकेशन चरण में 1180 अंकों के साथ शीर्ष पर थे।

CWG-2018 : संजीव राजपूत ने जीता गोल्ड, 18 की उम्र में ज्वाइन की थी भारतीय सेना

नौसेना में हैं अफसर है संजीव राजपूत –

संजीव राजपूत भारतीय नौसेना में अफसर हैं। उन्होंने 18 साल की उम्र में बतौर नाविक भारतीय सेना ज्वाइन किया था।

कई पदक अपने नाम कर चुके है संजीव राजपूत –
संजीव अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई मेडल जीत चुके हैं। संजीव 2020 टोक्यो ओलंपिक में उनसे पदक की उम्मीद होगी। संजीव द्वारा जीते पदक इस प्रकार से है-

  • 2014 ग्लास्गो कॉमनवेल्थ खेलों – सिल्वर मेडल
  • 2006 मेलबर्न कॉमनवेल्थ गेम्स – ब्रॉन्ज मेडल
  • कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में शूटिंग – 5 गोल्ड, 2 सिल्वर मेडल (अलग-अलग इवेंट्स में)
  • एशियन गेम्स – 1 सिल्वर, 2 ब्रॉन्ज मेडल
  • आईएसएसएफ वर्ल्ड कप – 1 गोल्ड, 2 सिल्वर मेडल
[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

दंगल गर्ल बबीता –

दंगल गर्ल बबीता फोगाट ने 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स (गोल्ड कोस्ट) में सिल्वर जीत कर प्रदेश और देश का नाम रोशन किया है|  बबीता ने 53 कि ग्रा कैटेगरी में सिल्वर पदक जीता है|

CWG-2018 : हरियाणा की दंगल गर्ल बबीता ने कुश्ती में जीता सिल्वर

बबीता को फाइनल में कनाडा की डायना विकर से हार का सामना करना पड़ा अौर गोल्ड की जगह सिल्वर से संतोष करना पड़ा। कनाडाई पहलवान ने बबीता को फाइनल में 2 के मुकाबले 5 प्वाइंट से हराया।

आपको बता दें कि दंगल गर्ल चरखी दादरी जिले के गाँव बलाली (पहले बलाली गाँव भिवानी जिले में आता था, लेकिन चरखी दादरी दे नए जिला बनने के बाद यह चरखी दादरी का हिस्सा बन गया है|  की  रहने वाली है |

आज फोगाट सिस्टर्स के नाम से मशहूर गीता और बबीता भारत की महिला कुश्ती में हिंदुस्तान का सबसे बड़ा नाम हैं।

बबीता फ़ौगाट द्वारा जीते गए अन्य पदक –

  • 2010 दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स – सिल्वर मेडल
  • 2014 ग्लास्गो कॉमनवेल्थ गेम्स – गोल्ड मेडल
[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

सीमा पूनिया –

21वें  कॉमनवेल्थ  गेम्स में हरियाणा की बेटी सीमा पूनिया ने जीता में सिल्वर मेडल जीता है|  सीमा पूनिया डिस्कस थ्रो की खिलाड़ी हैं, उन्होने लगातार चौथे कॉमनवेल्थ में मेडल जीता है।

CWG-2018 : हरियाणा की बेटी सीमा पूनिया ने डिस्कस थ्रो में जीता सिल्वर

राष्ट्रमंडल खेलों के आठवें दिन एथलेटिक्स स्पर्धा में डिस्कस थ्रोअर सीमा पूनिया ने रजत पदक और उनके साथ नवजीत कौर ढिल्लो ने भी भारत को इसी स्पर्धा में कांस्य पदक दिलाया। सीमा पुनिया ने छठे मौके पर 58.90 का स्कोर करते हुए सिल्वर मेडल जीता।

आपकों बता दें की सीमा पूनीया सोनीपत जिले के खेवड़ा गांव से संबन्धित है|

[ads1]

सीमा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में लगातार चार पदक जीत चुकी है –

सीमा पूनिया ने रजत पदक अपने नाम किया,जोकि कॉमनवेल्थ गेम्स में लगातार चौथीबार है, इससे पहले सीमा ने क्रमश:

  • 2006 कॉमनवेल्थ गेम्स मेलबर्न – सिल्वर मेडल
  • 2010 कॉमनवेल्थ गेम्स दिल्ली – कांस्य पदक
  • 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स स्कॉटलैंड – रजत पदक

डोपिंग  (Doping) में पाई गई थी दोषीछीन गया था गोल्ड –

सीमा ने 17 साल की उम्र में विश्व जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप (Junior Athletics Championship) में डिस्कस थ्रो में स्वर्ण पदक जीता था, लेकिन डोपिंग (Doping) का दोषी पाए जाने के कारण उनका पदक छीन लिया गया था। सीमा ने गलती से स्यूडोफेडरिन ले ली थी जो जुकाम को ठीक करती है।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

किरण गोदारा –

आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में कुश्ती में हिसार की बेटी किरण गोदारा ने 76 किलोग्राम भारवर्ग में कांस्य पदक जीत कर देश व प्रदेश का नाम रौशन किया | कांस्य पदक जीतने वाली किरण का मुकाबला मॉरिशस की पहलवान से था|

CWG-2018 : हिसार की बेटी किरण ने जीता कांस्य पदक

महाबीर स्टेडियम में दमखम दिखाने वाली महिला कुश्ती खिलाड़ी किरण ने मेहनत के बल पर कॉमनवेल्थ तक का सफर तय किया है।

साउथ अफ्रीका में चल रही कॉमनवेल्थ कुश्ती वूमन प्रतियोगिता में 72 किलोग्राम भारवर्ग में किरण गोदारा ने गोल्ड मेडल जीता था| जिसके आधार पर किरण का चयन कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए हुआ था।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

अनीश भानवाला –

करनाल के अनीश 15 वर्ष की आयु में गोल्ड जीत रिकॉर्ड कायम किया | 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में करनाल के 15 वर्षीय अनीश भानवाला ने शूटिंग में एक रिकॉर्ड अपने नाम करते हुए गोल्ड जीत लिया।


CWG-2018 : करनाल के अनीश ने 15 वर्ष की आयु में गोल्ड जीत रिकॉर्ड कायम किया

21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता है| भारत के 15 वर्षीय निशानेबाज अनीश ने फाइनल में कुल 30 अंक हासिल करते हुए सोना जीता | अनीश टूर्नामेंट में पहली बार भाग ले रहे हैं।

15 साल के अनीश भानवाला कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले सबसे कम उम्र में भारतीय खिलाड़ी हैं। अनीश ने 2014 ग्लाग्सो कॉमनवेल्थ गेम्स में आस्ट्रेलिया के डेविड चापमान की ओर से बनाए रिकॉर्ड को तोड़ दिया

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

बजरंग पुनिया –

21वें कॉमनवेल्थ गेम्स (गोल्ड कोस्ट) में हरियाणवी के सोनीपत जिले के पहलवान बजरंग पुनिया ने कुश्ती में शानदार प्रदर्शन करते हुए 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में भारत की झोली में 17वां स्वर्ण पदक डाला हैं |

CWG-2018 : बजरंग पूनिया ने देश को दिलाया 17वां गोल्ड

राष्ट्रमंडल खेलों में बजरंग पूनीया का यह पहला स्वर्ण पदक है। पहलवान  बजरंग पुनिया ने पुरुषों की 65 किलोग्राम भार वर्ग के आखिरी प्रतिस्पर्धा में वेल्स के केन चारिग को हराकर देकर गोल्ड जीता है ।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

गौरी श्योराण –

International Shooter गौरी श्योराण को हरियाणा सरकार ने बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। हरियाणा सरकार ने गौरी श्योराण को मीजल्स और रुबेला (Measles & Rubella) वैक्सीनेशन कैंपेन का स्टेट ब्रांड एंबेसडर बनाया है।

इंटरनेशनल शूटर गौरी श्योराण होंगी खसरा टीकाकरण मुहिम की ब्रांड एंबेसडर

हरियाणा सरकार ने प्रदेश में मीजल्स और रुबेला ((Measles & Rubella) से निपटने के लिए एक कैंपेन चलाया है, जिसमें 9 साल से 15 साल तक के 80 लाख बच्चों को टीकाकरण करने का उद्देश्य है।

यह साल 2014 को शुरू की गई राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में शिशु मृत्यु दर में कमी, बीमारियों से बचाव, सेहत में सुधार और दिव्याग बच्चों को सुविधा देने के लिए योजना है।

केंद्र सरकार की योजना है कि साल 2020 तक खसरा मुक्त भारत का निर्माण करना है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने एमआर वैक्सीनेशन कैंपेन (MR Vaccination Campion) को चंडीगढ़ में लॉन्च किया और इस मौके पर इंटरनेशनल शूटर गौरी श्योराण को एंबेसडर बनाने की घोषणा की।

गौरी श्योराण से संबन्धित कुछ जानकारीयां

  • गौरी श्योराण चंडीगढ़ की रहने वाली है| और वह हरियाणा की ओर से खेलती है|
  • गौरी ने 7वें वर्ल्ड यूनिवर्सिटी शूटिंग चैंपियनशिप में 25 मीटर स्पोर्ट्स पिस्टल इवेंट में गोल्ड जीता था |
  • हरियाणा सरकार ने गौरी को 2016-17 के भीम अवॉर्ड से भी सम्मानित किया है।
  • गौरी के पिता जगदीप सिंह आईएएस हैं और हरियाणा के स्पोर्ट्स डिपार्टमेंट में डायरेक्टर के पद पर तैनात हैं।

IAS अधिकारी डॉ. नीना मलहोत्रा –

हरियाणा की संस्कृति के प्रचार के लिए केंद्रीय सरकार ने वरिष्ठ आईएएस (IAS) अधिकारी डॉ. नीना मलहोत्रा को हरियाणा का ब्रांड एंबेसडर (Brand Ambassador) नियुक्त किया है।

IAS नीना हरियाणा की ब्रांड एंबेसडर बनी करेंगी हरियाणवीं संस्कृति का प्रचार

पर्यटन विभाग (Tourism department) के अतिरिक्त मुख्य सचिव विजय वर्धन ने बताया कि पीएम मोदी ने राष्ट्रीय स्तर पर एक नई नीति तैयार की है। जिसके तहत अब विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिवों को अलग- अलग प्रदेशों को विदेशों में प्रस्तुत करने के लिए ब्रांड एंबेसडर (Brand Ambassador) के रूप में नियुक्त किया गया है।

इस योजना के तहत वरिष्ठ IAS अधिकारी एंव विदेश मंत्रालय की संयुक्त सचिव डॉ. नीना मलहोत्रा को हरियाणा की ब्रांड एंबेसडर बनाया गया है। IAS नीना को 4 देशों में प्रचार करने का जिम्मा दिया गया है।

इससे हरियाणवीं कल्चर (Haryana Culture) और इंटरनेशनल गीता जयंती महोत्सव (International Geeta Jayanti Mahotasav) को विदेशों में भी पहचान मिलेगी। सरकार के निर्णय के अनुसार IAS नीना महोत्सव के लिए 10-12 देशों में प्रतिनिधियों को आमंत्रित करेंगी।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

रानी रामपाल –

हॉकी इंडिया (Hockey India) ने महिला हॉकी विश्व कप (Women Hockey World Cup) के लिए भारतीय महिला टीम की घोषणा की है। हरियाणा की बेटी रानी रामपाल भारतीय महिला टीम की कप्तानी करेगी।

हरियाणा की बेटी रानी रामपाल ने थामी महिला हॉकी विश्व कप टीम कि ज़िम्मेदारी

आपकों बता दें की इस वर्ष हॉकी विश्व कप लंदन में 21 जुलाई से आयोजित किया जाएगा| जिसमें भारतीय टीम को पूल-बी मे शामिल किया गया है और भारतीय टीम के साथ इग्लैंड, अमेरिका और आयरलैंड भी शामिल होंगे।

रानी रामपाल के बारें में कुछ महत्वपूर्ण बातें –

  • रानी रामपाल का जन्म 4 दिसंबर 1994 को हुआ|
  • रानी रामपाल, शाहबाद (कुरुक्षेत्र) की रहने वाली है|
  • 2009 में एशिया कप में रानी ने सिल्वर मेडल जीता|
  • 2010 में 15 साल की उम्र में वह हॉकी विश्व कप में भी शामिल रही थी।
[ads1] [divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

मेघा जैन –

मेघा जैन, पहली ऐसी सिविलियन भारतीय महिला बनी है जिन्होंने रुस में फाइटर विमान मिग-29 को साढ़े 18 हजार मीटर की उंचाई पर 1850 किमी/ घंटे की रफ्तार से उड़ाने का कारनामा किया है|

मिग-29 उड़ाने वाली देश की पहली सिविलियन बनी हरियाणा की बेटी मेघा, लिम्का बुक में नाम दर्ज

फ़रीदाबाद की रहने वाली 29 वर्षीय मेघा के इस कारनामे को पिछले दिनों जारी लिम्का बूक ऑफ रिकार्ड्स-2018 में शामिल कर लिया गया है|

मेघा जैन पेशे से चार्टर्ड एकाउंटेंट है और उनका यह रेकॉर्ड उस समय बना जब वह काम के सिलसिले में रूस गई हुई थी| वहां एक स्कीम के तहत उन्हें सिविलियन फाइटर विमान मिग-29 को उडाने का मौका मिला। उन्हे खतरों से खेलने का शौक है, जिसके चलते ऐसा खतर वह अमेरिका में 15 हजार फीट पर स्काई ड्राइविंग कर ले चुकी हैं।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

 सोनम चौधरी 

सोनीपत की बेटी सोनम चौधरी ने गायकी के क्षेत्र में ग्लोबल लीडर अवार्ड (Global Leader Award) मिला है| यह अवार्ड सोनम को पॉप सिंगर शंकर साहनी के साथ “मूड है शायराना“ एल्बम में में गाना गाने के लिए मिला है|

गायकी के क्षेत्र में ग्लोबल लीडर अवार्ड विजेता सोनीपत की सोनम को मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

सोनम की इस कामयाबी से हरियाणा के मुखमंत्री ने 10 अप्रैल 2018 को रोहतक में सम्मानित किया । ये अवार्ड उन्हें पॉप सिंगर शंकर साहनी के साथ एल्बम में गाना गाने के लिए मिला है।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

अर्चना मोर –

24 से 29 मार्च तक पंचकुला में आयोजित हुये पैरा एथलेटिक चैंपियनशिप-2018 नेशनल गेम्स में अर्चना मोर ने गोल्ड मेडल जीता है। अर्चना मोर शॉटपुट की खिलाड़ी हैं  |

अर्चना मोर ने गोल्ड मैडल जीतकर एक बार फिर से यह दिखा दिया है कि म्हारे हरियाणा की छोरियां तो धाकड़ हैं साथ में बहुएं भी किसी से कम नहीं है।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

तनु रावल

तनु रावल ने पिछले दिनों आस्ट्रेलिया में आयोजित जूनियर शूटिंग प्रतियोगिता में रजत पदक जीत कर देश व राज्य का नाम रौशन किया है|  तनु हरियाणा के गाँव कोहड़ की रहने वाली हैं|

हरियाणा की बेटी तनु रावल ने जीता रजत पदक

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

अशोक कुमार –

हरियाणा के पंचकूला में आयोजित 18वीं राष्ट्रीय पैरा ओलंपिक एथलेटिक चैंपियनशिप में डिस्कस थ्रो 28.91 मीटर में दिव्यांग खिलाड़ी अशोक कुमार रजत पदक जीता|

अशोक कुमार भिवानी से संबन्धित है | भिवानी पहुंचने पर खेल प्रेमियों अशोक कुमार हार्दिक अभिनंदन अभिनंदन किया।

[ads1] [divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

मूर्ति दलाल –

हिसार में गुरु जंभेश्वर यूनिवर्सिटी में 17 अप्रैल 2018 को आयोजित दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया | इस समारोह में पत्रकारिता एवं जनसंचार में टॉपर विद्यार्थियों के लिए शुरू किए गए अतुल माहेश्वरी पत्रकारिता में छात्रा मूर्ति ने कब्जा जमाया है|

शिक्षा मंत्री ने मूर्ति दलाल को अतुल माहेश्वरी पत्रकारिता अवार्ड से सम्मानित किया |

दो वर्षीय कोर्स के शैक्षिक सत्र 2015-17 में पत्रकारिता एवं जनसंचार की छात्रा मूर्ति दलाल को मास्टर ऑफ जर्नलिज्म में 78 प्रतिशत अंक के साथ टॉप आने के लिए अतुल माहेश्वरी पत्रकारिता स्वर्ण पदक प्रदान किया गया है।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

ट्विंकल गर्ग –

29 अप्रैल 2018 को दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिक यूनिवर्सिटी, मुरथल में आयोजित दीक्षांत समारोह में हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने 498 विद्यार्थियों को स्नातक (Graduate) व स्नातकोत्तर (Post-Graduate) की उपाधियां प्रदान की।

हरियाणा के राज्यपाल ने MBA टॉपर ट्विंकल को अतुल माहेश्वरी गोल्ड मेडल से सम्मानित किया

इस दीक्षांत समारोह में राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने एमबीए (MBA) टॉपर ट्विंकल गर्ग को अतुल माहेश्वरी गोल्ड मेडल से सम्मानित किया व  इसके अलावा 33 उत्कृष्ट विद्यार्थियों को स्वर्ण पदक प्रदान किए गए।

ट्विंकल गर्ग ने 8.23 CGPA के साथ दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी यूनिवर्सिटी (DC S&T University) से एमबीए टॉप किया है। ट्विंकल गर्ग पानीपत की रहने वाली है |

इस दीक्षांत समारोह में हरियाणा के शिक्षामंत्री रामबिलास शर्मा, महिला एवं बाल विकास (WCD) मंत्री कविता जैन, सांसद रमेश कौशिक भी मौजूद रहे।

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

अनु कुमारी –

अभी हाल ही में संघ लोक सेवा आयोग (UPSC- Union Public Service Commission) की परीक्षा का परिणाम घोषित हुआ है| हरियाणा के सोनीपत के अनु कुमारी ने यूपीएससी परीक्षा में देशभर में द्वितीय स्थान हासिल किया है|  (प्रथम स्थान – हैदराबाद के अनुदीप डुरीशेट्टी)

UPSC टॉपर अनु कुमारी होंगी सोनीपत के 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' की ब्रांड अंबेसडर

शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया की अनु कुमारी की इस उपलब्धि के लिए उन्हे सोनीपत जिले के “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” अभियान की ब्रांड अंबेसडर बनाया|

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

नितिन 

नितिन ने पताया, थाईलैंड़ में हुई इंटरनेशनल कराटे चैंपियनशिप (International Karate  Championship)  में 65 किलो भार  वर्ग में गोल्ड़ मेड़ल जीतकर अपने देश व अपने गाँव का नाम रौशन किया है|

थाईलैंड़ में आयोजित इंटरनेशनल कराटे चैंपियनशिप में नितिन ने जीता गोल्ड

नितिन इससे पहले मुंबई में हुई एशिया चैंपियनशिप (Asia Championship) में गोल्ड मेडल जीत चुका है।

नितिन उपमंडल इंद्री के गांव इंद्रगढ़ का रहने वाला है|  नितिन की जीत से पूरे गांव और इंद्री हल्के में खुशी का माहौल है। गांव पहुंचने पर नितिन का भव्य स्वागत किया गया और खुली जीप में बैठाकर पूरे शहर में तिरंगे के साथ घुमाया गया।

नितिन ने 65 किलो भार  के पहले राउंड में प्रतिद्वंदी खिलाड़ी मुकुल, दूसरे में कीविसी व तीसरे राउंड में सीन को हराकर गोल्ड पर कब्जा किया |

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

अजय जाखड़ –

अजय ने हिमाचल प्रदेश स्थित 5289 मीटर ऊंची फ्रेंडशिप पीक (ग्लेशियर) को फतह कर प्रदेश और जिले का नाम रोशन किया है।

हरियाणा के पलवल जिले के अजय जाखड़ ने फतेह की फ्रेंडशिप पीक

अजय ने बताया कि मनाली से आगे तक पैदल चढ़ाई कर फ्रेंडशिप पीक के किनारे पर उनके टेंट लगाए गए थे। यहां पर अभियान में हिस्सा ले रहे सभी प्रतिभागियों को दो दिन तक बर्फ में चलने का अभ्यास करवाया गया और 26 मई से फ्रेंडशिप पीक (ग्लेशियर) पर चढ़ाई शुरू की गई।

अजय ने बताया कि वह लगातार 9 दिनों की चढ़ाई के बाद फ्रेंडशिप पीक की चोटी पर सबसे पहले पहुंचे। पर्वतारोहण के दौरान रास्ता भी काफी विकट व दुर्गम था लेकिन आत्मविश्वास की बदौलत उसने फ्रेंडशिप पीक को फतेह कर लिया। उन्होंने कहा कि अब उनका अगला लक्ष्य माउंट एवरेस्ट पर फतेह हासिल करना है जिसके लिए वे ट्रेनिंग लेंगे|

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

गौरव कादियान –

पर्वतारोही गौरव कादियान ने भारत की सबसे ऊंची चोटी कंचनजंगा पर तिरंगा फहराने वाले पहले हरियाणवी बन गए हैं।

गौरव कादियान बने कंचनजंगा चोटी पर तिरंगा फहराने वाले पहले हरियाणवी

गौरव कादियान दुबलधन माजरा (झज्जर) गांव से संबन्धित है| गौरव ने प्रथम प्रयास में ही कंचनजंगा की कठिन चढ़ाई को फतह कर दिखाया है जो भविष्य में युवाओं के लिए प्रेरणादायक बनेगा | अधिक जानकारी क्लिक करें…

[divider style=”normal” top=”10″ bottom=”10″]

एकता भ्याण –

ट्यूनीशिया में आयोजित विश्व पैरा एथलेटिक्स ग्रांड प्रिक्स-2018 (World Para Athletics Grand Prix -2018) में हरियाणा की बेटी ने देश और प्रदेश का विश्व में नाम चमकाया है| एकता भ्याण विश्व पैरा एथलेटिक्स ग्रांड प्रिक्स-2018 में एक गोल्ड और दो ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं।

हरियाणा की बेटी एकता भ्याण ने ट्यूनीशिया में पैरा एथलेक्टिस में जीता गोल्ड व ब्रॉन्ज मेडल

वर्ष 2003 में एकता भ्याण का रोड एक्सीडेंट हो गया था जिसमें उनकी रीड की हड्डी में चोट लगी थी | इस एक्सिडेंट के बाद उनके शरीर का निचला हिस्सा काम करना बंद कर गया और उनको व्हीलचेयर पर ही रहना पड़ा।

लेकिन उन्होने हिम्मत नहीं हारी और खुद को मजबूत करते हुए साल 2014 में खेलना शुरु कर दिया। इस दौरान एकता ने पूरी मेहनत की और खुद की जिंदगी बदली।

एकता बताती है कि उनको अमित सरोहा से सबसे ज्यादा हौंसला मिला। अर्जुन पुरस्कार विजेता अमित सरोहा से मिलने के बाद एकता ने भी अपनी जिंदगी में कुछ अलग करने की ठानी और मेहनत के बल पर अपना और अपने देश-प्रदेश के नाम को चमकाया |

दोस्तों आपकों यह आर्टिकल कैसा लगा, अपने कमेंट हमें जरूर लिखें | अगर आपकों ये पसंद आया हैं तो आप इसे शेयर जरूर करें |

धन्यवाद |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here