गौरव कादियान बने कंचनजंगा चोटी पर तिरंगा फहराने वाले पहले हरियाणवी

0
33

पर्वतारोही गौरव कादियान ने भारत की सबसे ऊंची चोटी कंचनजंगा पर तिरंगा फहराने वाले पहले हरियाणवी बन गए हैं। गौरव कादियान दुबलधन माजरा (झज्जर) गांव से संबन्धित है| गौरव ने प्रथम प्रयास में ही कंचनजंगा की कठिन चढ़ाई को फतह कर दिखाया है जो भविष्य में युवाओं के लिए प्रेरणादायक बनेगा |

गौरव के इस साहसी कार्य के लिए परिवार के साथ-साथ झज्जर जिले की उपायुक्त सोनल गोयल ने भी गौरव को बधाई दी और सम्मानित किया |गौरव कादियान बने कंचनजंगा चोटी पर तिरंगा फहराने वाले पहले हरियाणवी

आपकों बता दें की कंचनजंगा भारत की सबसे ऊंची चोटी और दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटियों में शामिल है|

12 अप्रैल 2018 को केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने ओएनजीसी (ONGC) की पंद्रह सदस्यीय टीम को रवाना किया | 20 मई 2018 गौरव कादियान समेत दल के पाँच साथियों ने कंचनजंगा पर तिरंगा फहराया | बाकी सदस्य अगले दिन चोटी पर पहुँचने में सफल रहे| गौरव ने बताया कि कंचनजंगा की कठिन चढ़ाई से पहले मांउट सतोपंत (Mount Satopant) जिसकी ऊंचाई 7075 मीटर है, तथा माउंट सतोकांगड़ी (mount Satokangadi) जिसकी ऊंचाई 6123 मीटर है को फतह किया ताकि मिशन कंचनजंगा को पहली बार में ही फतह किया जा सके। इसी तैयारी की बदौलत ही कंचनजंगा पर तिरंगा फहराकर उसी दिन बेस कैंप में लौटकर एक रिकार्ड बनाया।गौरव कादियान बने कंचनजंगा चोटी पर तिरंगा फहराने वाले पहले हरियाणवी

कादियान ने बताया कि वर्ष 2014 के बाद कोई भी भारतीय पर्वतारोही कंचनजंगा को फतह नहीं कर पाया था, कंचनजंगा भारतीय पर्वतारोहियों के लिए एक चुनौती बन चुका था। ONGC ने मिशन कंचनजंगा को फतह करने के लिए एक दल तैयार किया। मिशन कंचनजंगा को फतह करने के लिए चुने गए पर्वतारोही दल को “अटल बिहारी वाजपेयी माउंटियरिंग एंड एलाइड स्पोट्र्स संस्थान, मनाली” में पर्वतारोहण की बेसिक व एडवांस ट्रेनिंग दी गई।

ONGC में इंजीनियर के पद पर कार्यरत 30 वर्षीय गौरव कादियान ने बताया कि पर्वतारोही बनने के लिए कठिन मेहनत्र, प्रशिक्षण और आत्मबल की जरूरत होती है। ओएनजीसी ने मिशन कंचनजंगा के टीम चुनी तो उन्होंने पर्वतारोहण की चुनौती को स्वीकार किया। प्रशिक्षण के दौरान उन्होंने पता चला कि अब तक हरियाणा से कोई भी पर्वतारोही कंचनजंगा फतह नहीं कर पाया है तो उन्होंने इसे दोहरी चुनौती के रूप में स्वीकार किया।

गौरव कादियान ने बताया कि उनका सपना है कि वो विश्व की सबसे उंची चौटी माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) पर फतेह हासिल करें |

Leave a Reply