हरियाणा “उच्च-जोखिम वाले गर्भवती महिला पोर्टल”को शुरू करने वाला देश का प्रथम राज्य बना |

0
32

6 जनवरी 2018 को हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है की प्रदेश में उच्च-जोखिम वाले गर्भवती महिला पोर्टल (launch high-risk pregnancy portal) को लॉंच करने वाला हरियाणा पूरे देश भर में पहला राज्य बन गया है | यह पोर्टल न केवल जमीनी स्तर पर high-risk pregnant केसों की पड़ताल करेगा बल्कि यह समय समय पर ऐसे केसों को सिविल होस्पिटल्स में देख रेख के लिए ले जाएगा और स्पेशलिस्ट से डिलिवरी सुविधा भी प्रदान करवाएगा |

स्वास्थ्य मंत्री अनिल वीज ने कहा की इसकी पहल को NITI आयोग और यूनियन मिनिस्टर ऑफ हैल्थ अँड फैमिली वेल्फेयर के द्वारा सराहा गया है |हरियाणा "उच्च-जोखिम वाले गर्भवती महिला पोर्टल"को शुरू करने वाला देश का प्रथम राज्य बना |

High Risk Pregnancy Policy को नवंबर 2017 से 100 प्रतिशत high-risk- pregnancy केसों की पहचान करके उन्हे सिविल अस्पतालों में विशेषज्ञों द्वारा उनकी डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए लागू किया गया है।

आगे वीज ने कहा, “यह पहल निश्चित रूप से मातृ मृत्यु दर, शिशु मृत्यु दर और हाल ही जन्म की घटनाओं में गिरावट की गति की दर में वृद्धि करेगी क्योंकि यदि समय पर काम नही किया गया तो उच्च जोखिम वाली गर्भवती मामलों में मृत्यु दर काफी अधिक है |”

मुख्य सक्रेटरी स्वास्थ्य अमित झा ने कहा है की यह वेब एप्लिकेशन डिलिवरी के 42 दिनों तक उच्च-जोखिम वाले गर्भवती महिला को ट्रैक करने के लिए डिज़ाइन किया गया है ताकि गर्भावस्था के दौरान महिला के स्वस्थ परिणाम के लिए पूर्व-प्रसव के दौरान पर्याप्त उपचार प्राप्त हो सके।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन निदेशक अनीत पी कुमार ने कहा कि सभी सिविल सर्जनों को उच्च जोखिम वाली गर्भवती मामलों में उच्च जोखिम वाले गर्भवती मामलों में 100 प्रतिशत प्रवेश और विशेषज्ञों द्वारा सिविल अस्पतालों में उनके प्रबंधन के निर्देश जारी किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में जन्म सहयोगी रणनीति भी लागू की है जिसके तहत श्रमिक कक्ष में प्रसव के दौरान एक महिला परिचर को अनुमति दी जाएगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here