हरियाणा में कृषि संबन्धित समान्य ज्ञान (प्रमुख फ़सलें, खाद्यान फ़सलें)

0
2207

हरियाणा कृषि की दृष्टि से एक समृद्ध राज्य है | हरियाणा में लगभग 65% लोगो की जीविका कृषि पर निर्भर करती है | हरियाणा केंद्रीय भंडार (अतिरिक्त खाद्यान्न की राष्ट्रीय संग्रहण प्रणाली) में बड़ी मात्रा में गेहूं और चावल देता है। राज्य के घरेलू उत्पादन में 26.4 प्रतिशत योगदान कृषि का है हरियाणा राज्य के निर्माण के समय 1966-67 में राज्य में खाध्यन्न उत्पादन 25.92 लाख टन था जो 2011-12 में बढ़ कर 183.70 लाख टन हो चुका है | राज्य के निर्माण के समय से अब तक यह बढ़ोतरी लगभग 7 गुना है|

हरियाणा में मुख्य फ़सलों का उत्पादन पहले से बहुत बढ़ गया है। हरियाणा की मुख्य फसलों में चावल, गेहूं, ज्वार, बाजरा, मक्का, जौ, गन्ना, कपास दलहन, तिलहन और आलू आदि आते हैं। देश के 60% से अधिक बासमती चावल का निर्यात अकेले हरियाणा से किया जाता है | हरियाणा में नकदी फ़सलों में गन्ना, कपास, तिलहन और सब्जियों तथा फलों का उत्पादन अधिक हो रहा है। सूरजमुखी और सोयाबीन, मूंगफली, बागवानी को भी विशेष रूप से प्रोत्साहित किया जा रहा है। हरियाणा में खेती को बढ़ावा देने के लिए समय समय पर लोगो को जागरूक किया जा रहा है और कृषि संबन्धित कार्यक्रम किए जाते है। मिट्टी की उर्वरता शक्ति को बढ़ाने के लिए ढेंचा और मूंग के उत्पादन को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है।हरियाणा में कृषि संबन्धित समान्य ज्ञान (प्रमुख फ़सलें, खाद्यान फ़सलें)

हरियाणा की मुख्य फसलों का उत्पादन –

  • गेंहू का उत्पादन 2013-14 में 118 लाख टन था, वही चावल का उत्पादन 39.98 लाख टन |
  • गेंहू का उत्पादन 2014-15 में 113.99 लाख टन था, वही चावल का उत्पादन 37.53 लाख टन |
  • गन्ना और तिलहन का उत्पादन 2014-2015 में क्रमश: 10.02 व 84.18 लाख टन हुआ |
  • कपास का उत्पादन 2014-15 में 18.76 लाख टन हुआ |

मुख्य फसलों के अधीन क्षेत्र (000 हेक्टेयर में)

वर्ष गेंहू चावल कुल खाद्यान गन्ना कपास तिलहन कुल बोया गया क्षेत्र
1966-67 773 192 3520 150 183 212 4599
2013-14 2499 1228 4357 102 564 549 6243
2014-15 2478 1183 4390 113 638 550 6243

Source – vidhyapeth times

मुख्य फसलों कृषि उत्पादन (000 हेक्टेयर में)

वर्ष गेंहू चावल कुल खाद्यान तिलहन कपास
(000 गाँठे)
गन्ना
1966-67 1059 223 2592 92 288 5100
2013-14 11800 3998 16944 899 2017 7500
2014-15 11399 3753 16241 1002 1876 8418

 


हरियाणा ने कृषि में पूरे भारत में अपना एक अलग कृतिमान बनाया है| हरियाणा के लगभग सभी जिलों में कृषि उत्पादकता अच्छे स्तर पर है | नीचे टेबल में उन जिलों के नाम दिये गए है जो किसी विशेष फसल के उत्पादन में प्रथम स्थान पर है |

हरियाणा राज्य के फसलों में प्रथम जिलें –

फसल का नाम जिले का नाम राज्य के क्षेत्र
(प्रतिशत में)
राज्य में ऊपज
(प्रतिशत में)
चावल करनाल 14.11 14.82
ज्वार रोहतक 32.25 29.63
बाजरा महेन्द्र्गढ़ 22.09 25.03
मक्की पंचकुला 61.62 56.69
गेंहू सिरसा 11.75 12.80
कपास सिरसा 33.53 37.81
जौ भिवानी 25.85 23.35
चना भिवानी 54.47 54.72
सरसों भिवानी 29.09 27.64
गन्ना यमुनानगर 26.96 26.75

 


इसके अलावा प्रदेश में फलों व सब्जियों की भी अच्छी पैदावार होती है, फलों व सब्जियों के साथ साथ फूलों की भी खेती की जाती है |

फल व सब्जियों में प्रथम जिलो के नाम

फल/सब्जी जिले का नाम फल/ सब्जी जिले का नाम
आम करनाल आलू कुरुक्षेत्र
सिट्रस सोनीपत शक्करकंद कुरुक्षेत्र
केला फ़तेहाबाद प्याज अंबाला
सेब फ़तेहाबाद आड़ू सिरसा

इसे भी पढे – हरियाणा का कृषि अधीन क्षेत्र व उत्पादकता में भारत में स्थान से संबन्धित जानकारी

प्रमुख फूल उत्पादक क्षेत्र –

  • गुलाब – पानीपत, सोनीपत, गुरुग्राम, कैथल
  • गेंदा- गुरुग्राम, सोनीपत, जींद, झज्जर
  • राजनीगंधा- फ़रीदाबाद
  • गलैडियोलस – फ़रीदाबाद, गुरुग्राम, करनाल, पंचकुला

अगर ऊपर दी गई जानकारी आपको पसंद आई है तो इसे जरूर अपने मित्रों तक शेयर करें | या कोई त्रुटि है तो मुझे कमेंट में जरूर बताए |

Leave a Reply